CRPF

नक्सल प्रभावित इलाकों में इस तरह जनता का दिल जीत रहे हैं CRPF के जवान

लातेहार। केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के जवान जहां जंगलो में नक्सलवाद से लड़ाई लड़ रहे हैं वहीं दूसरी तरफ अपनी  सामजिक जिम्मेदारियां भी बखूबी निभा रहे हैं।





मरीजों व पीड़ितों के लिए वरदान बनी है बाइक एम्बुलेंस 

बीजापुर छत्तीसगढ़ में तैनात 85बटालियन CRPF आम जनता को फ्री में चिकित्सा सुविधा मुहैया करा रही है। CRPF के जवान बीमार लोगों के लिए मसीहा बने हुए हैं। यहां एक खास तरह की बाइक एम्बुलेंस तैयार की गई है, जो दूर-दराज के इलाकों से मरीजों को बेहद कम समय में अस्पताल पहुंचाने का काम कर रही है।

यह साधारण बाइक की तरह ही है लेकिन इसकी पिछली सीट की जगह पर एक आरामदायक कुर्सी लगाई गई है। इस पर मरीज को बैठाया जा सकता है। इस सीट के पीछे प्राथमिक चिकित्सा के एक बॉक्स भी रखा गया है ताकि पीड़ित को  समय रहते प्राथमिक चिकित्सा दी जा सके। बाइक सवार को फर्स्ट एड की पूरी जानकारी दी गई है।

कराया युवती का इलाज और उठाया विवाह का खर्च

इसी तरह सीआरपीएफ की 11 बटालियन इन दिनों अति नक्सल प्रभावित जिला लातेहार में तैनात है। जहां बटालियन के अधिकारी और जवान ड्यूटी के साथ-साथ कई सामाजिक कार्यों में भी योगदान देते आ रहे हैं। इसी क्रम में कमांडेंट पंकज कुमार के दिशा निर्देशन में द्वितीय कमान अधिकारी अश्विनी परमार ने रेवत खुर्द गांव में सामाजिक कार्य अभियान चलाया। यहां सीआरपीएफ ने न सिर्फ एक युवती का इलाज कराया बल्कि उसके विवाह का खर्च भी उठाया।

रेवत खुर्द गांव की रीना कुमारी जुलाई वर्ष 2016 में खाना बनाने के क्रम में पचास फीसदी जल गई थी। CRPF ने कमांडेंट के दिशा-निर्देशन में मतलौंग कैम्प में रीना का समुचित इलाज कराया गया था और धूम धाम से उसकी शादी भी कराई। CRPF ने उसकी शादी का पूरा खर्च उठाया जिसमें जरूरत के सामान और कपड़े भी शामिल थे।

Comments

Most Popular

To Top