Assam Rifles

CAPF के जवान 100 फीसदी विकलांग तो मिलेंगे 20 लाख

अर्द्धसैनिक बल

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने किसी कार्रवाई में घायल होने के बाद 100 फीसदी तक विकलांग होने वाले अर्द्धसैनिक बल के जवानों के लिए अनुग्रह राशि नौ लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये कर दी है। गृह मंत्रालय ने हाल ही में कहा कि यह बढ़ा हुआ मुआवजा एक जनवरी 2016 को या उसके बाद सेवा में रहते विकलांग होने वाले सभी केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल के जवानों पर लागू माना जाएगा।





  • 100 फीसदी विकलांगता के लिए एक जनवरी 2016 से एकमुश्त अनुग्रह राशि को 9 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपया किया जाएगा

इसमें कहा गया है, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के आधार पर यह फैसला लिया गया कि केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF-सीएपीएफ) और असम राइफल्स के जवान की 100 फीसदी विकलांगता के लिए एक जनवरी 2016 से एकमुश्त अनुग्रह राशि को 9 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपया किया जाएगा। 100 फीसदी से कम विकलांगता के मामलों में मुजावजा राशि को विकलांगता के स्तर के अनुपात में कम किया जा सकता है।

गृह मंत्रालय के तहत केंद्रीय अर्द्धसैनिक आठ बलों के करीब 10 लाख जवान आते हैं। इसमें सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, असम राइफल्स, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) और एनडीआरएफ के जवान शामिल हैं।

अर्द्धसैनिक बलों को बेहद दुर्गम स्थानों पर तैनात किया जाता है और वे सबसे मुश्किल लड़ाई लड़ते हैं। इसमें जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों से लड़ना और पूर्वोत्तर में उग्रवादियों से लड़ना, नक्सल विरोधी अभियानों में हिस्सा लेना और अन्य कानून एवं व्यवस्था की ड्यूटी निभाना शामिल हैं। वे भारत-पाकिस्तान सीमा और चीन-भारत सीमा के ऊंचे बर्फीले स्थानों पर भी तैनात रहते हैं।

Comments

Most Popular

To Top