CISF

दिल्ली एयरपोर्ट के टर्मिनल-2 में CISF की तैनाती के आदेश

एयरपोर्ट के टर्मिनल- 2

नई दिल्ली। एयरपोर्ट के टर्मिनल- 2 से भी डोमेस्टिक उड़ानें 1 अक्टूबर से शुरू कर दी जाएगी। इसे लेकर गृह मंत्रालय की ओर से सीआईएसएफ को इस टर्मिनल पर अपना सिक्यॉरिटी कवर देने के आदेश दे दिए गए हैं। एयरपोर्ट सूत्रों के हवाले से खबर है कि टर्मिनल- 2 के लिए लगभग 550 सीआईएसएफ के जवान तैनात किए जाएंगे।





टी- 2 लंबे समय से कमर्शल ऑपरेशन के लिए बंद है और यह टर्मिनल- 3 और टर्मिनल- 1 से थोड़ा अलग भी है। इस बात को ध्यान में रखते हुए यहां ज्यादा संख्या में कमांडों की ड्यूटी लगाई जाएगी ताकि सुरक्षा से कोई समझौता न हो। यहां क्विक रिएक्शन टीमों यानी क्यूआरटी की संख्या भी अधिक लगानी होगी। सीआईएसएफ की यहां तैनाती करने से पहले इस टर्मिनल का कई सुरक्षा एजेंसियों ने मिलकर सर्वे किया था। इसमें ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन मिनिस्ट्री और सुरक्षा से जुड़ी अन्य एजेंसियों के आला अधिकारी शामिल थे।

सर्वे के बाद मालूम चला कि आखिर कितने जवानों को यहां तैनात करना काफी रहेगा। जिससे यात्रियों और इमरजेंसी के वक्त उससे निपटने में कोई दिक्कत न हो। देखा जाए तो यात्रियों और उनके लगेज की जांच करना एक अहम कार्य है। इसलिए इस काम में किसी तरह का कोई रिस्क सीआईएसएफ नहीं उठाना चाहती। इस सब बातों को देखते हुए कुछ अधिक जवान यहां तैनात किए गए हैं।

इसके अलावा यहां एक्सरे स्कैनर और DFMD समेत सुरक्षा जांच के लिए जरूरी दूसरे तमाम उपकरणों को यहां तैनात किया जा रहा है। माना जा रहा है कि सीआईएसएफ इस टर्मिनल को 15 से 20 सितंबर तक अपने अधीन ले लेगी। हालांकि अभी भी यहां सीआईएसएफ के जवान तैनात रहते हैं। लेकिन इनकी संख्या सिर्फ इतनी है, जिससे इस टर्मिनल से होते हुए कोई अनचाहा शख्स एयरपोर्ट के अंदर घुसने में कामयाब न हो जाए। लेकिन अब सीआईएसएफ बड़े स्तर पर टी- 2 को अपने अधीन रखेगी।

 

Comments

Most Popular

To Top