CISF

अब अंग्रेजी भी सीखेंगे डॉग स्क्वायड, CISF सेंटर में ट्रेनिंग

'डॉग ट्रेनिंग स्कूल' CISF

रांची। CISF के डॉग ट्रेनिंग स्कूल में कुत्तों को अब अंग्रेजी की ट्रेनिंग भी दी जाएगी। झारखंड पुलिस के साथ-साथ दूसरे राज्यों के श्वान दस्ते को भी CISF के डॉग ट्रेनिंग स्कूल में प्रशिक्षित किया जाएगा। दरअसल, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) के डीजी ओपी सिंह इन दिनों झारखंड दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने पूर्वी क्षेत्र के पहले ‘डॉग ट्रेनिंग स्कूल’ के नए पाठयक्रमों को लॉन्च किया, जिसमें खोजी कुत्तों को अंग्रेजी में प्रशिक्षण देने का पाठ्यक्रम भी शामिल है।





प्रशिक्षण में शामिल हुआ अंग्रेजी का ‘पाठ्यक्रम’

इस प्रशिक्षण केंद्र की शुरुआत के साथ झारखंड पुलिस के तथा अन्य राज्यों के श्वान दस्तों को भी मजबूती मिलेगी। प्रशिक्षण केंद्र में खोजी श्वान दस्ते को विस्फोटकों की पहचान करना, ट्रैकिंग, बचाव, नशीले पदार्थों का पता लगाना, अपराधियों की पहचान करना और तलाश करने सहित अन्य खोजी कार्यों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक अधिकारियों का कहना है कि अंग्रेजी में प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में डॉग्स को अंग्रेजी के बड़े अक्षरों, खतरे के निशानों को पहचानने और शब्दों का ज्ञान आदि शामिल होगा। फिलहाल सीआईएसएफ के पास कई प्रशिक्षित डॉग हैं, जो दिल्ली एयरपोर्ट, दिल्ली मेट्रो सहित महत्वपूर्ण जांच एजेंसियों व परमाणु केंद्रों पर मौजूद हैं।

चुनौतियों से निपटने के लिए उठाया गया कदम

सूत्रों के मुताबिक, डीजी ओपी सिंह ने कहा कि राज्य पुलिस के श्वान दस्ते को खास तौर पर प्रशिक्षित किया जाएगा। श्वानों को अंग्रेजी में प्रशिक्षित किए जाने का पाठ्यक्रम भी है, ताकि ये नई चुनौतियों से निपटने में कारगर हों। उन्होंने कहा कि भविष्य में राज्य में श्वान प्रबंधन केंद्र खोलने की भी योजना है। इसका लाभ राज्य पुलिस को मिलेगा। इस दौरान डीजी ने सीआईएसएफ के ‘ग्रीन सीआईएसएफ अभियान’ के तहत पौधारोपण भी किया, जिसके तहत 10 लाख पौधे लगाए जाने का लक्ष्य रखा गया है।

 

Comments

Most Popular

To Top