CISF

CISF जल संरक्षण के प्रति लोगों को करेगा जागरूक

सीआईएसएफ अधिकारी पौधे लगाते हुए

नई दिल्ली। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) जल संरक्षण और वर्षा जल संचयन के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने, सामुदायिक भावना पैदा करने और भागीदारी के लिए प्रेरित करेगा। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ‘जल शक्ति अभियान’ के प्रति नागरिकों में जागरुकता लाने के उद्देश्य से केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के बीच सीआईएसएफ को नोडल एजेंसी की जिम्मेदारी सौंपी है।





सीआईएसएफ के महानिदेशक राजेश रंजन ने आज सादे व गरिमामय समारोह में रोहिणी स्थित आवासीय परिसर में बल के आला अधिकारियों, कर्मियों व स्कूली बच्चों को जल-संरक्षण के प्रति शपथ दिलवाई।

सीआईएसएफ अधिकारी बाइक अभियान दल को रवाना करते हुए

उन्होंने कहा कि जल संरक्षण जरूरी भी है और कर्तव्य भी है। सीआईएसएफ पूरे देश में पानी की अत्याधिक कमी से जूझ रहे 255 जिलों में स्थित बल की 88 इकाइयों के माध्यम से जल संरक्षण से संबंधित विभिन्न कार्यक्रम चला रहा है। स्कूली बच्चों से सीधे मुखातिब होते हुए महानिदेशक ने कहा कि आपके भविष्य के लिए जरूरी है कि आप इसमें भागीदार बनें। जल संरक्षण को लेकर मोटरसाइकिल रैली भी निकाली गई।

इस अवसर पर बल के महानिदेशक ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के उप-महानिरीक्षक रघुवीर लाल की अगुवाई में सीआईएसएफ के 13 सदस्यीय ‘माउंट सतोपंथ अभियान’ दल को झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अभियान दल में 03 महिला सदस्य भी शामिल हैं। यह अभियान दल उत्तराखंड के गढ़वाल हिमालय क्षेत्र में 7,075 मीटर की ऊंचाई पर स्थित माउंट सतोपंथ के लिए रवाना किया गया है। माउंट सतोपंथ अभियान को माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई के लिए प्रारंभिक तैयारी भी माना जाता है क्योंकि यहां कि परिस्थितियां एवरेस्ट पर्वत शिखर की तरह विषम व जटिल हैं।

CISF बाइक अभियान दल

इससे पहले सीआईएसएफ/डीएमआरसी का आवासीय परिसर का उद्घाटन किया गया। रोहिणी स्थित इस परिसर में 1,298 क्वॉर्टर DDA  से खरीदे गए हैं। इस परिसर में मेस, मेडिकल, जिमनैजियम, क्रेच, कैंटीन, सामुदायिक केंद्र और बच्चों के खेलने का पार्क जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं। परिसर और उसके आस-पास बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण भी किया गया।

इस अवसर पर अलोक कुमार पटेरिया, एडीजी मुख्यालय एमए गणपति, एडीजी एपीएस सुधीर कुमार, आईजी एनसीआर तथा बल के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Comments

Most Popular

To Top