BSF

Exclusive: तेजबहादुर सेफ, रोज होती है बात : शर्मिला

नई दिल्ली: सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) में जवानों को खराब गुणवत्ता वाला भोजन दिए जाने का वीडियो वायरल कर सुर्खियों में आए बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव के मौत की सोशल मीडिया पर झूठी अफवाह फैलाई जा रही है। उनकी पत्नी शर्मिला यादव ने रक्षकन्यूज.काम को बताया कि मेरे पति तेज बहादुर जिंदा हैं और बिल्कुल ठीक हैं। जो लोग ऐसी अफवाहें फैला रहे हैं वह ऐसा न करें। इन अफवाहों से मुझे और मेरे परिवार को बहुत सारी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है। उधर बीएसएफ ने इसे पाकिस्तान का प्रोपेगेंडा बताया है।





शर्मिला यादव ने बताया कि फिलहाल तेज बहादुर बीएसएफ कैंप में हैं और उनके खिलाफ अभी जांच चल रही है और वह जल्द ही पूरी हो जाएगी। इससे पहले गुरुवार को बीएसएफ ने भी तेज बहादुर को लेकर कहा था कि उन्हें कुछ नहीं हुआ है और वह पूरी तरह से ठीक हैं। बीएसएफ और तेज बहादुर की पत्नी शर्मिला को यह सफाई तब देनी पड़ी जब सोशल मीडिया पर घूम रही कुछ तस्वीरों में बीएसएफ में खान-पान की शिकायत करने वाले जवान तेज बहादुर की मौत की झूठी खबर प्रचारित की जा रही है।

इस फोटो को तेजबहादुर की मौत से जोड़कर सोशल मीडिया पर वायरल किया गया है

शर्मिला के मुताबिक उनकी दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद प्रतिदिन तेज बहादुर से बात होती है। उन्हें कोई दिक्कत नहीं है। ये केवल अफवाहें फैलाई जा रही हैं। कोई भी पत्नी जब अपने पति के बारे में ऐसी बातें सुनेगी तो उसे काफी परेशानी होगी। सरकार को ऐसे गलत अफवाहें फैलाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। शर्मिला ने सफाई में अपने फेसबुक वाल पर एक पोस्ट भी लिखा है।

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले सीमा पर तैनात बीएसएफ जवान तेज बहादुर ने सोशल मीडिया में मेस में खाने की गुणवत्ता पर सवाल उठाया और वीडियो साझा कर कहा कि बीएसएफ में जवानों को अच्छा खाना नहीं दिया जाता है। बीएसएफ ने जांच बिठाई और आरोपों को नकार दिया।

यह तस्वीरें फ़र्ज़ी प्रोपेगेंडा का हिस्सा हैं। पड़ताल में यह पता चला है कि यह प्रोपेगेंडा सीमापार से संचालित हो रहा है। इन तस्वीरों को प्रमुखता से ट्वीट करने वाले लोगों के सोशल मीडिया अकाउंट्स इसकी तस्दीक करते हैं कि वे पाकिस्तान के हैं।-बीएसएफ

Comments

Most Popular

To Top