BSF

बीएसएफ जवान रहे मुख्यमंत्री बिरेन ने साबित किया बहुमत

बिरेन सिंह सरकार ने साबित किया बहुमत

इंफाल। मणिपुर की नवगठित भाजपा नीत सरकार सोमवार को विधानसभा में बहुमत साबित करने में सफल हो गई। सरकार ने ध्वनिमत से विश्वास प्रस्ताव जीत लिया। चुनाव नतीजे आऩे के बाद भाजपा विधायक दल के नेता एन बिरेन सिंह ने गत 15 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। एन बिरेन सिंह पूर्व फुटबॉल खिलाड़ी हैं और बीएसएफ को अपनी सेवाएं दे चुके हैं।





60 सदस्यीय मणिपुर विधानसभा में भाजपा के 21, एनपीएफ के 4, एनपीपी के 4, एलजीपी का एक, टीएमसी के एक, निर्दलीय एक और कांग्रेस के एक विधायक भाजपा को समर्थन दिया था। इस तरह भाजपा सरकार के समर्थन में कुल 33 विधायकों का समर्थन जो बहुमत से एक अधिक था। सोमवार को विधानसभा सभा में सरकार ने ध्वनिमत से अपना बहुमत सिद्ध कर दिया।

भाजपा गठबंधन वाली एन बिरेन सिंह सरकार ने सत्ता संभालने के पांच दिनों के अंदर राज्य में गत 01 नवम्बर से लगे आर्थिक अवरोध को समाप्त कर राज्यवासियों का भरोसा जीतने में सफल रही है। यूनाइटेड नगा काउंसिल (यूएनसी) की आर्थिक नाकेबंदी रविवार की मध्यरात्रि के बाद समाप्त हो गई। सेनापति जिला मुख्यालय में आयोजित केंद्र, राज्य सरकार और नगा समूहों की बातचीत के बाद एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि यूएनसी नेताओं को बिना शर्त रिहा किया जाएगा और आर्थिक नाकेबंदी को लेकर नगा जनजातीय नेताओं और छात्र नेताओं के खिलाफ चल रहे मामलों को खत्म किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार के 07 नए जिले बनाए जाने के फैसले के खिलाफ यूएनसी ने 01 नवम्बर, 2016 को आर्थिक नाकेबंदी शुरू की थी।

 

Comments

Most Popular

To Top