BSF

पिता के बदले चाहिए 50 पाकिस्तानी सैनिकों का सिर

पुंछ में भारतीय जवानों से बर्बरता

नई दिल्ली: पाकिस्तान की बर्बर और कायराना हरकत का भारतीय सेना ने करारा जवाब देते हुए पाकिस्तान की उन चौकियों को नेस्तनाबूत करने के साथ सात सैनिकों को मार गिराया है जहां से पाकिस्तान की सेना ने भारतीय जवानों पर हमला किया था। लेकिन देश की जनता खासतौर से शहीदों के परिजन इससे संतुष्ट नहीं हैं। पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर में शहीद देवरिया के रहने वाले बीएसएफ के हेड कांस्टेबल प्रेम सागर की बेटी सरोज का कहना है कि मुझे अपने पिता की शहादत पर गर्व है। लेकिन हमें मेरे पिता के पदले पाकिस्तान सेना के 50 जवानों के सिर चाहिए।





इस बीच शहीद प्रेम सागर के पार्थिव शरीर को दिल्ली स्थित पालम एयरपोर्ट पर लाया गया, जहां केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के महानिदेशक देवेंद्र कुमार पाठक ने उन्हें पुष्प चक्र चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

पुंछ में भारतीय जवानों से बर्बरता

शहीद प्रेम सागर की बेटी ने पिता की शहादत के बदले 50 पाकिस्तानी सैनिकों के सिर की मांग की

शहादत पर न हो राजनीति, सेना को मिले फ्री हैंड

पुंछ में पाकिस्तान सेना की बर्बरता

शहीद प्रेम सागर के देवरिया स्थित घर पर भारी संख्या में लोग एकत्रित हो रहे हैं

शहीद प्रेम सागर के छोटे भाई दयाशंकर ने भारत सरकार से फ्री हैंड देने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि अगर सरकार सेना को आदेश दे तो हम लोग अंदर घुसकर पाकिस्तानियों को मारेंगे। उन्हें सबक सिखा देंगे कि भारत के जवान का सिर काटने की सजा क्या होती है। साथ ही उन्होंने कहा कि मेरे भाई की शहादत पर किसी प्रकार की राजनीति न की जाए।

उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करना चाहूंगा, जैसे पाकिस्तान हमारे जवानों के साथ करता है वैसे ही हम भी उनके साथ करें। प्रेमसागर के परिवार वालों ने कहा कि दुख के साथ खुशी भी है कि हमारा भाई देश के लिए शहीद हुआ। अन्य गांव वालों ने भी कहा कि पीएम को पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा एक्शन लेना चाहिए।

प्रेमसागर की बन रहा था घर

आपको बता दें कि अभी प्रेमसागर के घर पर काम चल रहा था, वह जब भी आते थे तो अपने घर को बनाने का काम करवाते थे। कुछ ऐसा ही इसी घटना में शहीद हुए सेना के नायब सूबेदार परमजीत सिंह भी कर रहे थे। उन्होंने अपने घर के काम को पूरा करवाने के लिए दो माह की छुट्टी ले रखी थी।

शहीद हेमराज की मां का सरकार से सवाल-क्या हुआ आपका वादा?

इस घटना के बाद शहीद हेमराज की मां ने कहा है कि पाकिस्तान के साथ निर्णायक जंग का वक्त आ गया है। लांसनायक हेमराज भी पाकिस्तानी सेना की बर्बरता का शिकार हुए थे। शहीद हेमराज के परिजनों ने कड़ी आपत्ति जताते हुए भारत सरकार से मांग की है कि जल्द से जल्द पाकिस्तान पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

हेमराज के परिजनों ने बीते वादों को याद करते हुए कहा कि जब हमारा बेटा शहीद हुआ था तो उस समय भी एक सिर के बदले 10 सिर लाने की बात कही थी, लेकिन अब तक सरकार द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। हेमराज के घरवालों ने कहा, ‘हमारी सरकार से मांग है कि जल्द ही पाकिस्तान के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई हो, जिससे हमारे और ज्यादा नौजवान शहीद न हों और शहीद होने पर उनके शवों के साथ ऐसा बर्ताव न हो।’

Comments

Most Popular

To Top