CISF

एक ऐसा गांव जहां देश की सुरक्षा को लेकर दी जाती है ट्रेनिंग

CISF
जवानों को दी जाती ट्रेनिंग (प्रतीकात्मक)

बहरोड़। राजस्थान के बहरोड़ क्षेत्र के ग्राम अनन्तपुरा के नजदीक केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के महाराणा प्रताप प्रशिक्षण केंद्र से अब तक बीस हजार जवानों को आधुनिक हथियारों के साथ सुरक्षा के मद्देनजर कड़ी ट्रेनिंग से होकर गुजरना पड़ा है। यहां से प्रशिक्षण प्राप्त कर देश के विभिन्न महत्वपूर्ण स्थानों पर तैनात होकर करोड़ों लोगों की सुरक्षा में दिन रात लगे रहे हैं। देश भर से आने वाले जवानों को ट्रेनिंग सेंटर से हर वर्ष दो हजार से अधिक जवानों को हर तरह के प्रशिक्षण देकर देश की सुरक्षा का पाठ पढ़ाया जाता है।





देश के जवानों के साथ-साथ अब प्रशिक्षण केंद्र पर विदेशी सुरक्षा बलों को ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया गया है जिसमें नेपाल पुलिस अधिकारियों के दो बैच को ट्रेनिंग मुहैया कराई गई है।

नौ महीने की कड़ी ट्रेनिंग

इस प्रशिक्षण केंद्र पर बल के ऑफिसर भर्ती होकर आने वाले जवानों को 09 महीने का कठोर प्रशिक्षण दिया जाता है। यहां आधुनिक हथियारों के साथ आतंकवाद और नक्सलवाद से निपटने का प्रशिक्षण दिया जाता है। VVIP लोगों की सुरक्षा, साइबर हमला, स्पेशल टास्क फोर्स, कमांडो ट्रेनिंग देकर जवानों को देश की रक्षा के लिए तैयार किया जाता है।

अब तक 20 हजार से ज्यादा जवान ले चुके हैं प्रशिक्षण

प्रशिक्षण केंद्र पर आसपास सहित देशभर से भर्ती होकर आने वाले जवानों को ट्रेनिंग दिया जाता है। प्रतिवर्ष दो हजार से अधिक जवान तैयार किए जाते हैं। अब तक सीआईएसएफ व विभिन्न पुलिस बल समेत 20 हजार से ज्यादा जवानों को प्रशिक्षण केंद्र से तैयार कर सुरक्षा के हर क्षेत्रों में तैनात किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top