Others

सर्वश्रेष्‍ठ आंकी गई युवा मामले एवं खेल मंत्रालय की झांकी

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस 2018 के लिए देश के युवा मामले एवं खेल मंत्रालय की झांकी भारत सरकार के सभी मंत्रालयों/विभागों की झांकियों के बीच सर्वश्रेष्ठ आंकी गई हैं। कल (28 जनवरी, 2018) नई दिल्‍ली में एक समारोह में सचिव (खेल) श्री राहुल भटनागर ने माननीया रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन से सर्वश्रेष्‍ठ झांकी के लिए ट्रॉफी एवं प्रमाण पत्र ग्रहण किया।





टीम को बधाई देते हुए युवा मामले एवं खेल राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) कर्नल राज्‍यवर्द्धन राठौर ने ट्वीट कर बधाई दी और कहा “CONGRATS @IndiaSports @YASMinistry @KheloIndia  #RepublicDay Parade! में सर्वश्रेष्‍ठ झांकी आंके जाने पर बधाई’’।

युवा मामले एवं खेल मंत्रालय की झांकी की थीम थी – खेलो इंडिया। डोंगी के एक तरफ कहा गया था ‘खेलो इंडिया, जो खेलेगा, वो खिलेगा।’ ओलम्पिक पदक विजेताओं द्वारा अपनी सफलता का जश्‍न मनाते भारत के खेल नायकों की तस्‍वीरों का एक कोलाज भी साइड पैनल पर था, जो देश के लाखों युवाओं को खेलों में भाग लेने के लिए प्रोत्‍साहित कर रहा था।

मलखंब का प्रतिनिधित्‍व कर रही एक छोटी टीम पारम्‍परिक पहनावे में सुसज्जित थी और भीषण ठंड के बावजूद प्राचीन भारतीय खेल प्रदर्शित कर रही थी। दो मुक्‍केबाज रिंग में मुक्‍केबाजी कर रहे थे और गिद्ध की आंखों की तरह एक रेफरी की उनके खेल पर नजर थी। बॉक्सिंग रिंग के दोनों तरफ महिला भारत्‍तोलकों थी और खेलों का दीप प्रज्‍ज्‍वलित हो रहा था। डोंगी के आखिर में ऐतिहासिक जवाहर लाल नेहरू स्‍टेडियम की प्रतिकृति थी और शीर्ष पर महान पौराणिक धनुषधारी अर्जुन की तस्‍वीर थी।

डोंगी पर एक टीवी कैमरेमैन की उपस्थिति मानव प्रयासों और साहस की कहानी बताने में मीडिया के महत्‍व को दर्शा रही थी। बॉक्सिंग ग्‍लव्‍स का एक जोड़ा, एक फुटबॉल, क्रिकेटर का हेलमेट, टेनिस का एक रैकेट भी प्रदर्शन के लिए रखा गया था।

उद्घाटक खेलो इंडिया स्‍कूल गेम्‍स का आयोजन पांच स्‍थानों, जहां एशियाई खेल 1982 एवं राष्‍ट्रकुल खेल 2010 का आयोजन किया गया था, 31 जनवरी से 8 फरवरी, 2018  तक किया जाएगा। 16 स्‍पर्धाओं में 3200 से अधिक एथलीट 198 स्‍वर्ण पदकों के लिए जी तोड़ प्रयास करेंगे।  खेलो इंडिया स्‍कूल गेम्‍स का प्रसारण स्‍टार स्‍पोर्ट्स नेटवर्क द्वारा किया जाएगा। खेलो इंडिया कार्यक्रम, खेल विभाग का एक प्रमुख कार्यक्रम है, जिसे 2017-18 में आरंभ किया गया है।

Comments

Most Popular

To Top