CRPF

टेलेंट को आगे लाने व प्रोत्साहित करने में ऐसे जुटी है CRPF

सीएपीएफ यूथ अंडर 19 फुटबॉल टेलेंट हंट प्रतियोगिता

रांची। राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने कहा है कि राज्य से माओवादी उग्रवाद को समाप्त करने, कानून-व्यवस्था बनाये रखने और विकास कार्यों को गति प्रदान करने में सीआरपीएफ की अभूतपूर्व भूमिका रही है। राज्यपाल मंगलवार को खेलगांव स्थित मेगा कॉम्पलेक्स में ऊर्जा सीएपीएफ यूथ अंडर 19 फुटबॉल टेलेंट हंट प्रतियोगिता के उद्धघाटन पर बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ अपने सभी कार्यों का निवर्हन अच्छी तरह से कर रही है। झारखंड राज्य प्राकृतिक संपदा से परिपूर्ण है। यहां के लोगों में नैसर्गिक खेल प्रतिभा प्रारंभ से ही विद्यमान है। यहां के लोगों ने विभिन्न खेलों में अपना लोहा मनवाया है।





उन्होंने कहा कि महिला हॉकी में सुमराई टेटे, फुटबॉल में सुबोध कुमार, तीरंदाजी में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित दीपिका कुमारी, क्रिकेट में राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित महेन्द्र सिंह धोनी, सौरव तिवारी, वरूण उरोन आदि प्रमुख हैं। इन खिलाड़ियों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में अभूतपूर्व प्रदर्शन के दम पर राज्य एवं देश का नाम रोशन किया है।

सीएपीएफ-यूथ-अंडर-19-फुटबॉल-टेलेंट-हंट

सीएपीएफ यूथ अंडर 19 फुटबॉल टेलेंट हंट प्रतियोगिता के उद्घाटन के मौके पर राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू प्रेरक विचार व्यक्त करती हुईं।

सीएपीएफ-यूथ-अंडर-19-फुटबॉल-टेलेंट-हंट

रांची में खेलगांव स्थित मेगा कॉम्पलेक्स में ‘OORJA’ सीएपीएफ यूथ अंडर 19 फुटबॉल टेलेंट हंट प्रतियोगिता के उद्धघाटन पर मार्च पास्ट करते युवा

उन्होंने कहा कि प्रसन्नता का विषय है कि सीआरपीएफ ने अपने सामाजिक उत्तरदायित्वों का निर्वहन करते हुए अत्यन्त पिछड़े एवं ग्रामीण इलाकों में कई सामुदायिक कार्यों से आम लोगों के मन को जीतने के साथ-साथ सरकारी तंत्र के प्रति विश्वास को बढ़ाने का कार्य किया है। इनमें युवाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण देना, खेल-कूद की प्रतियोगिताओं का आयोजन एवं निःशुल्क स्वास्थ सेवा शिविर लगाना विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं।

इस मौके पर डीजीपी डीके पांडेय ने कहा कि झारखंड पुलिस और सीआरपीएफ के लिए ये गौरवशाली दिन है। उन्होंने कहा कि खेलों को बढ़ावा देने के लिए टैलेंट हंट टूर्नामेंट का आयोजन सीआरपीएफ ने किया है। इसके लिए सीआरपीएफ बधाई की पात्र है। टेलेंट को आगे लाने और उसे प्रोत्साहित करने के लिए सीआरपीएफ हर संभव प्रयास कर रही है। मौके पर सीआरपीएफ आईजी संजय आंनद लाटकर ने कहा कि यह प्रतियोगिता दो से 11 मई तक चलेगा। प्रतियोगिता तीन चरणों में आयोजित की गई है। प्रथम चरण राज्य स्तर, दूसरा और तीसरा चरण राष्ट्रीय स्तर का होगा। प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली टीम को पीके बनर्जी ट्राफी के साथ 50 हजार रुपये, दूसरे और तीसरे स्थान प्राप्त करने वाली टीम को 25 और 15 हजार पुरस्कार दिए जायेंगे।

Comments

Most Popular

To Top