Forces

एशियन गेम्स 2018: भारतीय सेना के नायब सूबेदार ने जैवलिन थ्रो में रचा इतिहास

नायब सूबेदार नीरज चोपड़ा

नई दिल्ली। एशियन गेम्स- 2018 में सोमवार को मेन्स जैवलिन थ्रो (भाला फेंक) में भारत के नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच डाला है। नीरज भारतीय सेना में नायब सूबेदार के पद पर नियुक्त हैं। एशियाड में गोल्ड जीतने पर भारतीय सेना ने भी इस युवा खिलाड़ी को बधाई दी है।





नीरज का पहला थ्रो 83.46 मीटर रहा हालांकि दूसरे थ्रो में उनका पैर लाइन से बाहर चला गया, जो फाउल हो गया लेकिन तीसरे थ्रो में उन्होंने भाला 88.06 मीटर दूर फेंक डाला। इसी के साथ नीरज ने खुद का ही नेशनल रिकॉर्ड तोड़ा। चौथे थ्रो में भी नीरज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 86.36 मीटर दूर भाला फेंका। 5वें थ्रो में उन्हें फाउल का सामना करना पड़ा लेकिन वह बाकी खिलाड़ियों से बहुत आगे थे, जिसके कारण ज्यादा फर्क नहीं पड़ा।

गोल्ड मेडल विजेता नीरज मिल्खा सिंह के बाद दूसरे ऐसे एथलीट है जिन्होंने एक ही साल में कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है। खास बात यह है कि जैवलिन में भारत कभी गोल्ड नहीं हासिल कर पाया था इसलिए नीरज की यह जीत काफी अहम है। जैवलिन में अंतिम मेडल वर्ष 1982 में गुरतेज सिंह ने जीता था। दिल्ली में हुए उस गेम्स में गुरतेज ने कांस्य हासिल किया था।

18वें एशियन गेम्स में अब तक भारत के कुल पदकों की संख्या 41 हो चुकी है। 8 गोल्ड, 13 सिल्वर और 20 ब्रॉन्ज मेडल के साथ भारत पदक तालिका में 9वें पायदान पर है।

Comments

Most Popular

To Top