DEFENCE

स्पेशल रिपोर्ट: HAL ने उड़ाया बिना पायलट वाला हेलीकाप्टर

RUAV

नई दिल्ली। हिदुंस्तान एरोनाटिक्स लि. (HAL) ने  एक  मानव रहित हेलीकाप्टर( आर यू ए वी )  का सफल परीक्षण किया है। यह हेलीकाप्टर दस किलो वजन का है जिस पर अढ़ाई किलो वजन का लाइव स्ट्रीम वीडियो कैमरा तैनात किया जा सकता है।





यह रोटरी विंग  हेलीकाप्टर दो स्ट्रोक पेट्रोल इंजन से लैस है । इसमें दो ब्लेड वाला मेन रोटर और टेल रोटर है। यह मानवरहित हेलीकाप्टर एक घंटे तक आठ-दस किलोमीटर के दायरे में उड़ान भर सकता है।

HAL के अधिकारियों ने बताया कि इसकी पहली सफल उड़ान दस मिनट तक हुई। यह उडान एटीच्यूड कंट्रोल एटीच्यूड  होल्ड (एसीएएच) मोड में हुई। कम गति से उड़ान भर कर इसे आगे औऱ पीछे और अगल- बगल  उड़ाया गया। इस दौरान हेलीकाप्टर पर लगे  वीडियो से  लाइव तस्वीरें भी ली गईं जिसे वीडियो रिसीवर पर देखा गया।

वैमानिकी क्षेत्र में आत्मनिर्भरता हासिल करने और शोध एवं विकास के प्रयासों में तेजी लाने के लिये हैल ने आईआईटी के कई संस्थानों के अलावा इंडियन इंस्टीट्यूट आफ साइंस बेंगलूर में पीठों की स्थापना की है।  आरयूएवी का विकास आईआईटी कानपुर के सहयोग से किया गया  है औऱ अकादमिक जगत के सहयोग से यह पहली कामयाबी है।

इस ताजा कामयाबी से HAL का रोटरी विंग शोध एवं विकास केन्द्र अब अधिक वजन वाले रोटरी विंग मानवरहित हेलीकाप्टर के विकास की ओऱ तेजी से बढ़ सकता है। HAL के चेयरमैन सुवर्णा राजू के मुताबिक हैल का रोटरी विंग सेंटर देश का अनोखा शोध केन्द्र है जो सैनिक और नागरिक इस्तेमाल  के लिये मानवरहित हेलीकाप्टरों के विकास में जुटा है। इसके पहले हैल ने अडवांस्ड लाइट हेलीकाप्टर – ध्रुव , रुद्र और पहिये वाली किस्म का विकास किया है। भारतीय सेनाओं द्वारा इनका पहले ही इस्तेमाल किया जा रहा है।

Comments

Most Popular

To Top