Forces

शहीद की पत्नी से एसपी ने मांगी माफ़ी

परमवीर चक्र विजेता शहीद अब्दुल हमीद व उनकी विधवा पत्नी रसूलन बीबी

वाराणसी। हड़बड़ी जल्दबाजी या इसे अज्ञानता ही कहिये कि भारतीय सेना के जांबाज सिपाही और परमवीर चक्र विजेता अब्दुल हमीद की पत्नी रसूलन बीबी के नाम पर समाजवादी पार्टी ने किसी और को सम्मानित कर दिया। यह मामला गत 30 अगस्त का है जब आजमगढ़ में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा एक कार्यक्रम में किसी और को सम्मानित कर दिया गया था। बाद में इस मामले में एसपी नेता ने शहीद के घर जाकर उनकी विधवा पत्नी से माफी मांगी और उन्हें घर पर ही सम्मानित किया।





रसूलन बीबी की जगह किसी और को किया समानित

ईद-उल-जुहा के अगले दिन रविवार को समाजवादी आजम गढ़ के जिला अध्यक्ष हवलदार यादव और पूर्व एसपी राज्यसभा सांसद नंदकिशोर यादव व अन्य कई नेताओं ने रसूलन बीबी से उनके घर जाकर माफ़ी मांगी और उन्हें उनके घर दुल्लहपुर गाजीपुर में परिवार के बीच सम्मानित भी किया।

गौरतलब है कि आजमगढ़ के करगिल शहीद रामसमुझ यादव के सहादत दिवस पर पूर्वांचल के शहीदों की पत्नियों और परिवार को एसपी के बैनर तले सम्मानित किया था अखिलेश यादव इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद थे जिन्होंने सभी को सम्मानित किया था। लेकिन आयोजकों ने रसूलन बीबी की जगह किसी और को समानित कर दिया जबकि रसूलन बीबी वहां गई ही नहीं थीं।

बाद में घर जाकर दिया सम्मान

रसूलन बीबी ने बाद में मालूम चलने पर इस बात पर आपत्ति जताई कि उनकी जगह किसी और को फर्जी सम्मान क्यों दिया गया। उनके पोते जमील के अनुसार उन्हें इस कार्यक्रम के लिए आमंत्रित भी नहीं किया गया था तो हम वहां कैसे जाते? सूत्रों के मुताबिक इस घटना के बाद पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आयोजकों पर खासी नाराजगी जताई जिसके बात एसपी नेता ने रसूलन बीबी के घर पहुंचकर उनसे माफ़ी मांगी और उन्हें सम्मानित किया।

Comments

Most Popular

To Top