NCC

कैसे हुआ NCC का गठन, जानें 9 खास बातें

भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय ने कुछ महीने पहले नेशनल कैडेट कोर (NCC) को और अधिक सशक्त बनाने की बात की थी। साफ है कि सरकार युवाओं के बीच इस कोर और लोकप्रिय करना चाहती है। NCC का उद्देश्य युवाओं में चरित्र, मिल-जुलकर काम करने की क्षमता का विकास करना है। इसके अलावा NCC युवाओं में नेतृत्व की क्षमता और सेवा की भावना भी विकसित करता है। यह युवाओं को सैन्य प्रशिक्षण प्रदान करता है और पहले से तैयार एक रिज़र्व बल बनाता है ताकि इसका उपयोग राष्ट्रीय आपातकाल के समय सशस्त्र बल के रूप में किया जा सके। आइये जानते हैं NCC से जुड़ी कुछ खास बातें :





जर्मनी में हुई थी शुरुआत

नेशनल कैडेट कोर (NCC)
राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) को सबसे पहले जर्मनी में 1866 में शुरू किया गया था। भारत में राष्ट्रीय कैडेट कोर की स्थापना 16 अप्रैल, 1948 में की गई थी। इसकी तारें यूनिवर्सिटी कोर से जुड़ी हैं जिसे इंडियन डिफ़ेंस एक्ट 1917 के तहत बनाया गया था NCC को सैनिकों की कमी से निपटने के उद्देश्य से बनाया गया था। साल 1920 में जब इंडियन टेरिटोरियल एक्ट पारित किया गया है, तो यूनिवर्सिटी कोर की जगह यूनिवर्सिटी ट्रेनिंग कोर (UTC) ने ले ली। उद्देश्य था कि UTC का दर्ज़ा बढ़ा दिया जाए और इसे युवाओं के लिए और आकर्षित बनाया जाए।

Comments

Most Popular

To Top