Others

यह कैसी मुलाकात, मिलने के नाम पर कुलभूषण जाधव को सिर्फ देख पाए परिजन

कुलभूषण की मां ने की मुलाकात

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की उनके परिजनों से जिस ढंग से मुलाकात कराई उस पर सवाल खड़े हो रहे हैं। सिर्फ इतना ही नहीं पाकिस्तान ने मुलाकात के बाद कुलभूषण जाधव का जो वीडियो जारी किया है वो भी मुलाकात से पहले का बताया जा रहा है। इस वीडियो में कुलभूषण जाधव को परिजनों से मुलाकात कराने के लिए पाकिस्तान सरकार का शुक्रिया कहते दिखाया गया है।





परिजनों से मुलाकात के बीच शीशे की दीवार

पाकिस्तान ने परिजनों से मुलाकात तो कराई लेकिन आधी-अधूरी। मुलाकात के नाम पर कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी उन्हें सिर्फ देख पाए। मुलाकात के दौरान कुलभूषण जाधव को शीशे की दीवार के पीछे रखा गया था। जाधव की पत्नी और मां उन्हें सिर्फ देख पाई। बातचीत के लिए इंटरकॉम का सहारा लेना पड़ा। मुलाकात से पहले पाकिस्तानी अधिकारियों ने जाधव की मां और पत्नी की बिंदी और गहने तक हटवा दिये। मुलाकात से पहले और मुलाकात के दौरान की फोटो में जाधव की पत्नी और मां के अलग-अलग पहनावे ही पाकिस्तान की बंदिशों की कहानी कह देते हैं। पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल के मुताबिक लगभग 40 मिनट की यह मुलाकात भारतीय उप उच्चायुक्त जे.पी. सिंह की मौजूदगी में हुई। हालांकि पाकिस्तान इसे मानवीय आधार पर कराई गई मुलाकात के रूप में बता रहा है, लेकिन परिजन  जाधव से न तो ठीक से मिल पाए और न ही इत्मीनान से बातचीत कर पाए।

कुलभूषण जाधव का नया वीडियो

मुलाकात के बाद पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव का नया वीडियो जारी किया है जिसमें वह परिजनों से मुलाकात की इजाजत देने के लिए पाकिस्तान सरकार का धन्यवाद करते दिख रहे हैं। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक इस वीडियो की रिकॉर्डिंग मुलाकात से पहले ही कर ली गई बताई जाती है। वैसे मुलाकात के दौरान को जो वीडियो सामने आया है उससे पता चलता है कि जाधव का टार्चर किया जा रहा है। तस्वीरों में जाधव के दाएं कान के पीछे चोट के निशान दिखाई दे रहे हैं। इससे पहले की तस्वीरों में ऐसे निशान नहीं थे।

21 महीने से जेल में बंद है कुलभूषण

बता दें कि 47 वर्षीय कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने कथित जासूसी और आतंकवाद के आरोपों के नाम पर 21 महीने से जेल में बंद कर रखा है। पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने इसी वर्ष अप्रैल में कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई थी। अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में भारत ने इस मामले को रखा जहां अंतिम फैसले तक जाधव की फांसी पर रोक लगा दी गई। भारत जाधव को राजनियक मदद पहुंचाने की पाकिसातन से निरंतर मांग कर रहा है लेकिन उसने अब तक इसकी इजाजत नहीं दी है।

Comments

Most Popular

To Top