Others

हरियाणा के पलवल में बनी मस्जिद में लगा पैसा लश्कर-ए-तैयबा का, NIA जांच का खुलासा

मस्जिद

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की पड़ताल में यह बात उभरकर आई है कि हरियाणा के पलवल जिले में बनी एक मस्जिद में कथित रूप से पाकिस्तान स्थित आतंकवादी हाफिज सईद के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (LeT) का पैसा लगा है। एक अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक NIA ने 3 अक्टूबर को पलवल के उत्तवार गांव में Khulafa-e-Rashideen मस्जिद की जांच की थी। NIA ने यह जांच कथित टेरर फंडिंग मामले में नई दिल्ली में मस्जिद के इमाम मोहम्मद सलमान सहित तीन लोगों की गिरफ्तारी के बाद की थी।





खबर के मुताबिक गांव के निवासियों ने बताया कि मस्जिद जिस जमीन पर बनी है वो विवादित है। उन्हें मोहम्मद सलमान के लश्कर-ए-तैयबा से लिंक की कोई जानकारी नहीं है। NIA मस्जिद के पदाधिकारियों से पूछताछ कर रही है और अकाउंटस बुक्स, जब्त दस्तावेजों तथा दान विवरणों की जांच कर रही है। हालांकि गांव के प्रधान ने इन आरोपों को नकारा है और कहा कि कई गांव के लोगों ने मस्जिद के निर्माण में पैसे दिए हैं।

खबर के मुताबिक NIA ने सलमान (52) और अब्दुल वानी को गत 26 सितंबर को लाहौर के Falah-e-Insaniyat Foundation (FIF) से टेरर फंडिग प्राप्त करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। Falah-e-Insaniyat Foundation की स्थापना हाफिज सईद के Jamaat-ud-Dawa ने की थी। Jamaat-ud-Dawa लश्कर-ए-तैयबा (LeT) का मूल संगठन है।

सूत्रों के मुताबिक NIA ने जांच में पाया कि सलमान ने कथित तौर से पलवल में मस्जिद बनाने के लिए Falah-e-Insaniyat Foundation का धन लगाया। NIA के एक अधिकारी के मुताबिक, ‘सलमान लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े लोगों के संपर्क में तब आया जब वह दुबई में था। उसे Falah-e-Insaniyat Foundation से पैसा मिल रहा था। समझा जाता है कि संगठन ने उसे मस्जिद बनाने के लिए 70 लाख रुपये दिए। यहां तक कि उसकी बेटियों के विवाह के लिए भी पैसा दिया। अब हम जांच कर रहे हैं कि मस्जिद को दान कहां से मिल रहा है और यह पैसा कैसे इस्तेमाल किया जा रहा है।’

अधिकारी ने बताया कि उत्तावर का निवासी सलमान बचपन से ही दिल्ली में रह रहा था। उसने मस्जिद निर्माण के लिए सबसे ज्यादा फंड इकट्ठा किया। सूत्रों के मुताबिक मस्जिद के लिए ग्रामीणों ने 10 एकड़ जमीन की व्यवस्था की जबकि निर्माण के लिए पैसा सलमान ने दिया। NIA ने आरोप लगाया कि यह पैसा वस्तुतः Falah-e-Insaniyat Foundation से आया। ग्रामीणों को लगा कि यह पैसा सलमान ने दिया है।

Comments

Most Popular

To Top