Army

जस्टिस वीरेंदर सिंह बने आर्म्ड फोर्स ट्रिब्यूनल के चेयर पर्सन

ट्रिब्यूनल कोर्ट

जस्टिस वीरेंद्र सिंह को आर्म्ड फोर्स ट्रिब्यूनल का चेयर पर्सन जस्टिस वीरेंद्र सिंह को आर्म्ड फोर्स ट्रिब्यूनल का चेयर पर्सन बनाया गया। करीब 10 महीने तक चेयरमैन की जगह खाली थी।

virender_singh





जस्टिस वीरेंदर सिंह को आर्म्ड फोर्स ट्रिब्यूनल (एएफटी) का चेयरपर्सन बनाया गया है। करीब 10 महीने से यह पद खाली था। वीरेंद्र सिंह झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस रह चुके हैं। एएफटी ने सुप्रीम कोर्ट को पत्र लिखकर खाली पद पर नियुक्ति की मांग की थी। जस्टिस वीरेंद्र सिंह का नियुक्ति पत्र रक्षा मंत्रालय ने जारी किया। बार एसोसिएशन ने अपने पत्र में एएफटी नियुक्ति में उचित न्यायिक समीक्षा की कमी बताई थी। अभी भी आर्म्ड फोर्स ट्रिब्यूनल में 17 में 10 पद खाली हैं।

पूरे भारत में एएफटी की 8 बेंच हैं जो चंडीगढ़, कोच्चि, कोलकाता और गोवाहाटी में हैं और जहां अभी भी कोई कार्य नहीं हो रहा है। यहां कभी कभी कुछ ज्यूडिशियरी मेंबर की मदद से कोर्ट से जुड़े कार्य होते हैं। एएफटी में अभी भी 16,000 मामले पेंडिंग हैं।

  • भारतीय सेना से जुड़े सारे मामले एएफटी ही देखता है।
  • एएफटी के निर्णय को सिर्फ सुप्रीम कोर्ट में ही चुनौती दी जा सकती है।
  • जस्टिस वीरेंद्र सिंह पंजाब-हरियाणा कोर्ट में जुलाई 2002 से 2007 तक न्यायाधीश रहे।
  • जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट में भी जज रह चुके हैं।
  • नवंबर 2014 से अक्टूबर 2016 तक झारखंड के मुख्य न्यायाधीश रहे।

Comments

Most Popular

To Top