HOME GUARDS

बिहार के होमगार्ड जवानों ने उग्र आंदोलन की ठानी

होमगार्ड

पटना। समान काम के लिए समान वेतन की मांग को लेकर बिहार के 72 हजार होमगार्ड जवानों ने उग्र आंदोलन पर जाने की चेतावनी देते हुए हड़ताल पर जाने की धमकी दी है। बिहार रक्षा वाहिनी स्वयं सेवक संघ की केन्द्रीय कार्य समिति की शुक्रवार को यहां बुलाई गई एक आपात बैठक में होमगार्ड जवानों द्वारा 15 मई को अपने बाल-बच्चों और परिवार के साथ यहां करो या मरो के नारे लगाते हुए प्रदर्शन व धरना का कार्यक्रम भी तय किया गया है।





इसके पहले 8 मई को जिला मुख्यालयों में वर्दी में चौक चौराहों पर भिक्षाटन के साथ 11 मई को अर्द्धनग्न रैली-प्रदर्शन और 13 मई को लोटा-थाली पीट कर प्रदर्शन का कार्यक्रम भी तय है।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में होमगार्ड जवानों को काम मिलने पर दैनिक 400 रुपये पारिश्रमिक मिलता है। उनकी मांग है कि औसतन 32 हजार होमगार्ड जवानों को रोज काम मिलता है। वे सिपाही के साथ काम पर तैनात होते हैं। इसीलिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आलोक में उन्हें सिपाहियों के मूल वेतन के हिसाब से दैनिक पारिश्रमिक दिया जाए।

संघ के प्रदेश अध्यक्ष अरुण कुमार ठाकुर ने बताया कि होमगार्ड जवानों ने राज्यपाल के आश्वासन पर 28 मार्च को हड़ताल वापस ले ली थी। हालांकि सरकार की ओर से कहा जा रहा है कि होमगार्ड जवानों को काम पर लिया जा रहा है। ऐसे में उनके हड़ताल पर होने का दावा सही नहीं है।

Comments

Most Popular

To Top