Career

अमेरिका में उच्च शिक्षा पाना, भारतीय छात्रों का अभी भी खास ठिकाना

Jennifer Zimdahl Galt

नई दिल्ली। अमेरिकी विदेश विभाग के शैक्षिक-सांस्कृतिक मामलों की मुख्य उप-सहायक सचिव Jennifer Zimdahl Galt ने यूएस-इंडिया एजुकेशन फाउंडेशन (USIEF) का दौरा किया। इसका उद्देश्य दुनिया के दो बड़े लोकतंत्र देशों के बीच शैक्षणिक अदान-प्रदान को बढ़ावा देना था।





इस दौरान उन्होंने अमेरिकी शिक्षा से जुड़े कर्मचारियों से मुलाकात की। ये कर्मचारी अमेरिका में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक भारतीय छात्रों को सलाह व जानकारी प्रदान करते हैं। अमेरिका में शिक्षा हासिल करना भारतीय छात्रों के लिए आज भी एक प्रमुख केंद्र है। अमेरिका में पढ़ाई कर रहे कुल अंतर्राष्ट्रीय छात्रों में से 17 प्रतिशत भारतीय छात्र हैं।

इस अवसर पर Jenifer Zimdahl Galt ने कहा कि अमेरिका उच्च शिक्षा संस्थानों की विविधता का लाभ उठाने के लिए भारतीय छात्रों का स्वागत करता है, साथ ही पूरे देश में यूएस विश्वविद्यालयों में विश्वस्तरीय शोध का भी स्वागत करता है। हम भारतीय छात्रों को इस बात के लिए भी प्रोत्साहित करते हैं कि अमेरिका में पढ़ाई के लिए अपनी शैक्षणिक जरूरतों को पूरा करने के लिए शिक्षा-सलाहकारों के संपर्क में रहें।

Galt ने फुल ब्राइट प्रोग्राम के छात्रों से भी मुलाकात की। इसमें भारत में पढ़ रहे अमेरिकी छात्रों के साथ-साथ अमेरिका के कॉलेजों-विश्वविद्यलायों में पढ़ाई कर चुके भारत के पूर्व छात्र शामिल थे। इस दौरान भारतीय स्नातकों ने विदेश में प्राप्त शिक्षा के अनुभव साझा किए और बताया कि उन्हें किस तरह अमेरिका में प्राप्त शिक्षा से लाभ मिला। शिक्षा-सलाहकारों ने उन्हें बताया कि कुछ विरोधाभासी रिपोर्टों के बावजूद भारतीय छात्रों में अमेरिका में पढ़ाई करने की ललक काफी है।

नई दिल्ली में USIEF स्थित यूएस शिक्षक-सलाह केंद्र ऑनलाइन सत्र के माध्यम से अमेरिका की उच्च शिक्षा के संबंध में नवीनतम, सटीक तथा विस्तार से जानकारी प्रदान करता है। इन निःशुल्क सत्रों में प्रवेश की जरूरतों, आवेदन प्रक्रियाओं, अध्ययन क्षेत्र तथा वित्तीय सहायता आदि के बारे में जानकारी दी जाती है। फुल ब्राइट प्रोग्राम संयुक्त राज्य अमेरिका में स्नातक स्तर पर अध्ययन करने के लिए योग्य भारतीय छात्रों को फैलोशिप प्रदान करता है। ये फैलोशिव भारत-अमेरिका में सबसे उत्कृष्ट छात्रों, शिक्षाविदों और पेशेवरों को एक दूसरे के देशों में अध्ययन, शोध और सिखाने में सक्षम मनाती है।

Comments

Most Popular

To Top