Listicles

फुरसत में: विलेन ‘मोगैंबो’ बना कानून का रखवाला और पहनी फौज की वर्दी भी, 10 खास बातें

अमरीश पुरी का नाम लेते ही जेहन में सबसे पहले फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ के खूंखार विलेन की छवि कौंधती है जो कहता है ‘मोगैंबो खुश हुआ’। ढेरों फिल्मों में उन्होंने खल चरित्र निभाए। दर्शकों को दहला देने के लिए उनकी क्रूर हंसी ही पर्याप्त थी। पर उन्होंने सिर्फ नकारात्मक भूमिकाएं ही नहीं निभाईं बल्कि कई फिल्मों में तो वे कानून के रखवाले यानी पुलिस अफसर भी बने। कुछ फिल्मों में उन्होंने फौजी की वर्दी भी पहनी। आज हम आपको उनकी कुछ ऐसी ही भूमिकाओं से सजी फिल्मों के बारे में बता रहे हैं-





‘अर्धसत्य’

Film-Ardhya-Satya

निर्देशक गोविन्द निहलाणी की यह फिल्म ओम पुरी के अविस्मरणीय अभिनय के लिए याद की जाती है लेकिन इस फिल्म में अमरीश पुरी की भी संक्षिप्त लेकिन प्रभावशाली भूमिका थी। इस फिल्म में ओम पुरी ने इंस्पेक्टर अनंत वेलणकर की भूमिका निभाई। अमरीश पुरी ने उनके पिता (फौजदार वेलणकर) की भूमिका निभाई। फौजदार वेलणकर को गर्व है कि उसकी तीन पीढ़ियों ने पुलिस में अपनी सेवाएं दीं। वह चाहता है कि उसका बेटा भी पुलिस में भर्ती हो और कम से कम डीएसपी पद तक पहुंचे।

Comments

Most Popular

To Top