Others

फुरसत में : इन 7 फिल्मों के जासूस- कितने अच्छे, कितने सच्चे

‘गदर-एक प्रेम कथा’ बना चुके अनिल शर्मा अपने बेटे उत्कर्ष शर्मा को पहली बार बतौर हीरो लेकर  ‘जीनियस’ लेकर आए हैं। इस फिल्म में उत्कर्ष ने खुफिया एजेंसी के जासूस का किरदार निभाया है। जासूसों और खुफिया एजेंसी के बारे में जिस तरह से इस फिल्म में अधकचरी और फिल्मी मसालों से भरी चीजें दिखाई गईं हैं, उन्हें देख कर लगता है कि ज्यादातर फिल्म वाले अभी भी जासूसी की दुनिया और जासूसों के काम करने के तरीकों से नावाकिफ हैं। इसी बहाने जासूसों को दिखाती कुछ हालिया प्रमुख फिल्मों पर एक नजर-





राजी (2018)

फिल्म राजी

1971 के समय में एक हिन्दुस्तानी जासूस लड़की सहमत के एक पाकिस्तानी फौजी अफसर की बीवी बन कर जाने और वहां से महत्वपूर्ण खबरें भेजने की कहानी पर लिखे गए उपन्यास ‘कॉलिंग सहमत’ पर आधारित मेघना गुलजार की यह फिल्म असल में उन तमाम लोगों की सोच में झांकने की कोशिश करती है जो पता नहीं किस जुनून में अपने मुल्क के लिए ऐसे खतरनाक काम करने के लिए राजी हो जाते हैं कि अपनी इज्जत व जान हथेली पर लेकर चल देते हैं एक अनजान जगह, अनजानों के बीच। जासूस कैसे काम करते हैं, कैसे उन्हें पराई जगह पर मदद और हिम्मत मिलती है, इन सब बातों को विस्तार और विश्वसनीयता के साथ दिखाती है यह फिल्म।

Comments

Most Popular

To Top