COURT

DGP ने सौंपा सुप्रीम कोर्ट का वारंट तो जस्टिस करनन भड़के

जस्टिस सीएस करनन को जमानती वारंट तामील

कोलकाता। इधर कोलकाता हाईकोर्ट के जज जस्टिस सीएस करनन ने सुप्रीम कोर्ट के सात वरिष्ठतम जजों से मानसिक परेशानी और सामान्य जीवन को नुकसान पहुंचाने के एवज में चौदह करोड़ रुपये का मुआवजा मांगा और उधर सुप्रीम कोर्ट की ओर से जारी जमानती वारंट राज्य पुलिस के महानिदेशक (डीजी) सुरजीत कर पुरकायस्थ और कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार ने आज न्यायाधीश करनन को सौंप दिया।





31 मार्च तक सुप्रीम कोर्ट में उपस्थित होना है

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए पुरकायस्थ और राजीव कुमार जस्टिस करनन के घ़र पहुंचे। जस्टिस करनन के न्यूटाउन आवास पहुंचकर उन्होंने उनके नाम जारी गिरफ्तारी का वारंट उन्हें सौंपा। इस वारंट में उन्हें 31 मार्च तक सुप्रीम कोर्ट में उपस्थित होने की बात कही गई है।

गौरतलब है कि पिछले 10 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस करनन के खिलाफ अदालता की अवमानना के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था। उन्होंने उस वारंट की अवमानना करते हुए साफ कह दिया कि वह सुप्रीम कोर्ट में हाजिर नहीं होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो वह घर पर ही कोर्ट बैठाकर मामले की जांच का जिम्मा सीबीआई को सौंप देंगे।

अदालत की अवमानना के आरोप में सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस करनन को तलब किया था। उन्हें सुनवाई और अन्य प्रशासनिक कार्यों से भी अलग कर दिया गया था। मामले को लेकर जस्टिस करनन ने सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को एक पत्र भी लिखा था और कहा था कि दलित होने के कारण ही उन्हें परेशान किया जा रहा है।

Comments

Most Popular

To Top