COURT

जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट के 46वें चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की शपथ ली

जस्टिस रंजन गोगोई

नई दिल्ली। जस्टिस रंजन गोगोई ने बुधवार को 46वें चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) के पद की शपथ ली। जस्टिस गोगोई इस पद पर पहुंचने वाले पूर्वोत्तर भारत के पहले मुख्य न्यायाधीश हैं। मुख्य न्यायाधीश के तौर पर इनका कार्यकाल करीब 14 महीने का है। वह 17 नवंबर, 2019 तक अपना कार्यभार संभालेंगे।





राष्ट्रपति भवन में सुबह करीब पौने ग्यारह बजे उन्हें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शपथ दिलाई। उनके पिता असम के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं।

इससे पहले पूर्व सीजेआई दीपक मिश्रा उच्च न्यायपालिका में स्थायी जज के तौर पर 21 वर्षों की सेवा के बाद सेवानिवृत्त हुए। इनमें 14 वर्ष वह अलग-अलग हाईकोर्ट में जज रहे। दूसरी तरफ, जस्टिस गोगोई 28 फरवरी 2001 को गुवाहाटी हाईकोर्ट के जज बने थे। जस्टिस गोगोई ने 23 अप्रैल, 2012 को सुप्रीम कोर्ट के जज के रूप में शपथ ली थी।

सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों के कुल 31 पद मंजूर हैं जिसमें से अभी 25 न्यायाधीश कार्यरत हैं। जस्टिस दीपक मिश्रा के सेवानिवृत्त होने के बाद यह संख्या घट कर 24 रह जाएगी। जस्टिस गोगोई के कार्यकाल में 05 और न्यायाधीश सेवानिवृत्त होंगे और सुप्रीम कोर्ट की कुल रिक्तियां 11 हो जाएंगी। उच्च न्यायालयों में भी जजों के 427 पद खाली हैं।

 

 

 

Comments

Most Popular

To Top