COURT

असम के पूर्व सीएम के बेटे जस्टिस गोगोई बने सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश

जस्टिस रंजन गोगोई
जस्टिस रंजन गोगोई (सौजन्य- गूगल)

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने न्यायमूर्ति रंजन गोगोई को देश का अगला मुख्य न्यायाधीश नियुक्त कर लिया है। गुरुवार को राष्ट्रपति ने न्यायामूर्ति गोगोई के नियुक्ति पत्र पर दस्तखत किए। राष्ट्रपति के दस्तखत के बाद कानून मंत्रालय ने इस बारे में अधिसूचना जारी कर दी।





जस्टिस रंजन गोगोई को तीन अक्टूबर को शपथ दिलाई जाएगी। मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने रंजन गोगोई का नाम अगले मुख्य न्यायाधीश के लिए केंद्र सरकार को भेजा था। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा 02 अक्टूबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। जस्टिस गोगोई का कार्यकाल 17 नवंबर, 2019 तक का होगा।

गौरतलब है कि 18 नवंबर,1954 को जन्मे जस्टिस रंजन गोगोई की स्कूली पढ़ाई डिब्रूगढ़ के डॉन वॉस्को स्कूल से हुई है। उन्होंने उच्च शिक्षा दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से की है। वह असम के पूर्व मुख्यमंत्री केशब चंद्र गोगोई  के पुत्र हैं। जस्टिस रंजन ने 1978 में वकालत करने के लिए पंजीकरण करवाया था। उन्होंने गुवाहाटी उच्च न्यायालय में वकालत की है। बाद में 28 फरवरी, 2001 को उन्हें गुवाहाटी हाईकोर्ट का स्थाई न्यायाधीश नियुक्त किया गया था। वह पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस भी रहे। सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीश के रूप में उनकी नियुक्ति 23 अप्रैल, 2012 को हुई थी।

Comments

Most Popular

To Top