COURT

अबु सलेम, करीमुल्लाह को उम्रकैद, ताहिर-फिरोज को फांसी

अबु सलेम

मुंबई। 1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट मामले में विशेष टाडा कोर्ट में गुरुवार को सजा का ऐलान किया गया। डॉन अबु सलेम समेत कुल 5 दोषियों को सजा सुनाई गई। ताहिर मर्चेंट और फिरोज खान को फांसी की सजा दी गई। अबु सलेम और कलीमुल्लाह खान को उम्रकैद तथा रियाज सिद्दीकी को 10 साल की सजा सुनाई गई है। सलेम और कलीमुल्लाह पर 2-2 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। 12 मार्च 1993 को मुंबई में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में ढाई सौ से ज्यादा लोगों की जानें गईं।





मुंबई ब्लास्ट मामले में कुल सात आरोपी थे, जिनमें से एक अब्दुल कय्यूम को सबूतों की कमी की वजह से बरी कर दिया गया था और छह को मामले में दोषी पाया गया था। इन छह दोषियों में एक मुस्तफा दोसा की मौत हो चुकी है। विशेष टाडा कोर्ट में सीबीआई के वकील ने पांचों दोषियों में 3 को सजा-ए-मौत और दो को उम्रकैद देने की मांग की थी। 16 जून को कोर्ट ने अबु सलेम के अलावा मुस्तफा दोसा, फिरोज अब्दुल रशीद खान, ताहिर मर्चेंट, कलीमुल्लाह खान व रियाज सिद्दीकी को भी दोषी करारा दिया था। सलेम को भरूच से मुंबई हथियार सप्लाई करने का दोषी पाया था। मुस्तफा दोसा को हत्या, साजिश और आतंकी गतिविधियों का दोषी पाया गया था।

फिरोज अब्दुल रशीद खान को साजिश रचने और हत्या का दोषी पाया गया था। ताहिर मर्चेंट को धमाके के षड्यंत्र में शामिल रहने का दोषी पाया गया था। टाडा कोर्ट का मानना है कि मुस्तफा दोसा, अबु सलेम, ताहिर मर्चेंट और फिरोज अब्दुल रशीद खान मुख्य साजिशकर्ता थे।

इन सातों को साल 2003 से 2010 के बीच गिरफ्तार किया गया था और इन पर आपराधिक साजिश रचने, सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने और हत्या के आरोप लगे थे।

क्या है पूरा मामला एक नजर में:

  • 12 मार्च 1993 को 12 बम धमाके
  • 1993 में मुंबई में सीरियल धमाकों में 257 लोगों की जानें गईं और 700 से अधिक लोग घायल हुए थे।
  • कलीमुल्‍लाह को आजीवन कारावास, अबू सलेम को आजीवन कारावास के साथ 2 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। ये सभी सजा एक साथ पूरी करनी होंगी।
  • फिरोज खान और ताहिर मर्चेंट को फांसी की सुनाई गई है।
  • सलेम को दो मामलों में उम्रकैद और दो मामलों में 25-25 साल की सजा सुनाई गई।
  • रियाज सिद्दीकी को 10 साल की सजा सुनाई गई। वह काफी वक्‍त से जेल में है। सीबीआई ने रियाज के लिए उम्रकैद की मांग की थी।
  • कलीमुल्‍लाह को उम्रकैद की सजा, 2 लाख रुपये का जुर्माना। हथियार लाने का दोषी था।
  • सलेम को 2005 में पुर्तगाल के प्रत्‍यर्पित कर भारत लाया गया था। प्रत्‍यर्पण के समय यह शर्त रखी गई थी कि उसे फांसी नहीं दी जाएगी।
  • इस मामले में 27 आरोपी अभी भी फरार हैं। दोसा, टाइगर मेमन और छोटा शकील ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग कैंप कराए थे।

Comments

Most Popular

To Top