Army

सेना भर्ती में चिकित्सा जांच के लिए अब नई प्रणाली लागू

सेना भर्ती

सीकर। सेना भर्ती में अभ्यर्थियों की चिकित्सकीय जांच प्रक्रिया में परिवर्तन किया गया है। भारतीय थल सेना में जूनियर कमीशन्ड ऑफिसर्स और अन्य पद भर्ती के लिए चिकित्सा जांच के लिए नई प्रणाली लागू की गई है।





मेडिकल रिपोर्ट सही होने पर उम्मीदवार होगा ‘रैली फिट’

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट जय प्रकाश ने बताया कि नई भर्ती के समय उम्मीदवार का चिकित्सा मापदण्ड स्वयं उम्मीदवार को ही मापना होगा। भर्ती प्रत्याशी अपने सभी शारीरिक निरीक्षण चिकित्सकीय जांच के दस्तावेज के साथ अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा। चिकित्सकीय रिपोर्ट सही होने पर उम्मीदवार को ‘रैली फिट’ घोषित किया जाएगा।

उम्मीदवार में कमी होने पर भेजा जाएगा विशेषज्ञ के पास

यदि उम्मीदवार में कुछ कमी होगी तो उसे विशेषज्ञ के पास भेजने के लिए घोषित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिन उम्मीदवारों को विशेषज्ञ के पास जाने के लिए घोषित किया जाता है वे विशेषज्ञ सलाह के लिए रैली में मेडिकल के बाद अगले दिन नामांकित सैनिक अस्पताल में भेजे जाएंगे। ऐसा करने से पीयूएफ (Physically Unclonable Function) व टीयूएफ (Target Unmasking Fluid) शब्दावली समाप्त हो जाएगी और किसी भी उम्मीदवार को 21 दिन और 42 दिन देने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। सैनिक अस्पताल में उम्मीदवारों को अंतत: संबंधित विशेषज्ञ द्वारा फिट या अनफिट घोषित किया जाएगा।

Comments

Most Popular

To Top