Anya Smachar

गिलगित-बाल्टिस्तान भारत का : ब्रिटिश संसद

बॉब-ब्लैकमैन

लंदन। पाकिस्‍तान द्वारा गिलगिट-बाल्टिस्‍तान को देश का 5वां सूबा बनाए जाने के फैसले का ब्रिटेन ने जबरदस्‍त विरोध किया है। ब्रिटेन ने साफतौर पर कहा है कि पाकिस्‍तान ने इस क्षेत्र पर 1947 के बाद से ही अवैध रूप से कब्‍जा जमा रखा है, जबकि यह कानूनी तौर पर जम्‍मू-कश्‍मीर का अभिन्‍न अंग है।





ब्रिटिश संसद ने इस बाबत एक प्रस्‍ताव पारित कर पाकिस्‍तान की कड़ी आलोचना भी की है। पाकिस्‍तान सरकार के इस फैसले के खिलाफ यह प्रस्‍ताव 23 मार्च को कंजरवेटिव पार्टी के नेता बॉब ब्‍लैकमेन ने रखा था। उन्‍होंने सदन में कहा कि यह क्षेत्र विवादित है और जिस हिस्‍से को पाकिस्‍तान 5वां सूबा बनाने की बात कर रहा है उस पर पाकिस्‍तान ने अवैध कब्‍जा किया हुआ है। उन्‍होंने साफतौर पर इसको भारत का अभिन्‍न अंग बताया है। उन्‍होंने कहा कि यहां के लोगों को बोलने की आजादी के साथ-साथ कई मूलभूत अधिकार भी नहीं मिले हैं।

चाइना-पाक इकोनोमिक कॉरिडोर (CPEC) पर पाकिस्‍तान की आलोचना

सदन में प्रस्‍ताव पर बोलते हुए बॉब का कहना था कि अगर पाकिस्‍तान अपने फैसले पर आगे बढ़ता है तो यह क्षेत्र में जनसांख्यिकी में बदलाव करने वाला होगा। उन्‍होंने इस क्षेत्र में सीपीईसी के हो रहे अवैध निर्माण को लेकर भी पाकिस्‍तान सरकार की कड़ी आलोचना की। इस बीच चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा है कि चीन सीपीईसी से वहां के स्थानीय लोगों को मिलने वाले फायदे पर पाकिस्‍तान से बात कर आगे बढ़ने को पूरी तरह से तैयार है।

51.5 बिलियन डॉलर की राशि से बन रहा है सीपीईसी

इस क्षेत्र में पाकिस्‍तान और चीन के सहयोग से बन रहे इस आर्थिक कॉरिडोर पर 51.5 बिलियन डॉलर की राशि खर्च हो रही है। इस कॉरिडोर को बनाने के पीछे पाकिस्‍तान के काशगर को चीन के शीजियांग से सीधा जोड़ा जाना है। इसके बाद इसको आगे ले जाकर ग्‍वादर और फिर बलूचिस्‍तान तक लेकर जाना है।

हालांकि बलूचस्तिान के लोग भी इस प्रोजेक्‍ट के खिलाफ काफी समय से आंदोलन कर रहे है। उन्‍होंने भी इस प्रोजेक्‍ट के जरिए पाकिस्‍तान पर यहां के लोगों का शोषण और यहां के संसाधनों का बेजा इस्‍तेमाल करने का आरोप लगाया है।

पाकिस्‍तान सरकार को बलूचिस्तान की चेतावनी

पाकिस्‍तान सरकार को बलूचिस्तान ने भी चेतावनी दी है कि अगर गिलगिट-बाल्टिस्‍तान को पाकिस्‍तान ने 5वां सूबा बनाया तो यह उसके लिए घातक कदम साबित होगा। उन्‍होंने भी साफतौर पर कहा है कि पाकिस्‍तान ने इस क्षेत्र में अवैध कब्‍जा किया हुआ है। वहीं पिछले दिनों इसी मुद्दे पर पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर में भी पाकिस्‍तान सरकार के खिलाफ जबरदस्‍त प्रदर्शन हुए थे। पाकिस्‍तान के पीएम नवाज शरीफ के नेतृत्‍व में बनी एक कमेटी को उनके विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने गिलगिट-बाल्टिस्‍तान को देश का 5वां सूबा बनाने की सलाह दी है।

पाकिस्‍तान के चार सूबे

अभी पाकिस्‍तान के चार सूबों में बलूचिस्‍तान, खैबर पख्‍तून्‍ख्‍वां, पंजाब और सिंध हैं। गौरतलब है कि भारत पहले से ही गिलगिट-बाल्टिस्‍तान समेत पूरे पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर पर अपना दावा करता रहा है। भारत ने कई बार सीपीईसी के तहत हो रहे निर्माण को भी अवैध करार देते हुए इसको तुरंत रोके जाने की अपील भी की है।

Comments

Most Popular

To Top