Anya Smachar

‘इन्फर्नो’ : जो सरहद की सुरक्षा के लिए सेना के काम आयेगी

वाराणसी: काशी हिन्दू विश्वविद्यालय भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के मेधावी छात्रों ने फिर अपनी प्रतिभा का परचम लहराया है। छात्रों ने दो साल के कठिन परिश्रम के बाद एक ऐसी कार बनाई है जो पानी, पहाड़, कीचड़, ऊबड़-खाबड़ पहाड़ के रास्तों पर भी फर्राटा भर सकती है।





महज तीन लाख की लागत से बनी कार का प्रदर्शन छात्रों ने गुरुवार को संस्थान परिसर में अपने गुरू सहायक प्रो. श्रीमती रश्मि साहू की देखरेख में किया। इस दौरान इस अनोखी कार ‘इन्फर्नो’ को देखने के लिए मीडिया कर्मियो के साथ आईआईटी के साथ अन्य संकायों के छात्र भी वहां मौजूद रहे। प्रदर्शन के दौरान कार बनाने वाले मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के छात्रों ने इसकी खूबियो को बताया और इसका प्रदर्शन भी किया। बताया कि यह कार देश की सरहदों की सुरक्षा के लिए दुर्गम रास्तों पर चौबीस घंटे तैयार रहने वाली भारतीय सेना के काम आयेगी।

छात्रों ने बताया कि ‘इन्फर्नो’ यहां के पूर्व मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में सोसायटी ऑफ ऑटोमोटिव इंजीनियरिंग बाहा इंडिया’ में प्रथम पुरस्कार जीत चुकी है। बताया कि इस कार का उद्देश्य केवल राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में भाग लेना हीं नहीं था बल्कि एक ऐसा डिजाइन बनाना था जो मोटर वाहन उद्योग के विस्तार में मददगार हो।

छात्रों ने बताया कि कार में 305 सीसी ब्रिग्स और स्ट्रैटन इंजन लगा है तो उसे तेज रफ्तार पकड़ने में मदद करता है। कार में कस्टम मेड पार्टस के प्रयोग से भार कम करने का प्रयास करने के साथ ही गाड़ी में ड्राइवर की सुरक्षा एवं सुविधा का विशेष ध्यान रखा गया है। ट्रांसमिशन में तकनीकी बदलाव करके ‘इन्फर्नो’ को हर प्रकार के भूभाग पर चलने में सक्षम बनाया गया है। 50 डिग्री के पहाड़ पर भी यह कार तेजी से भागेगी।

इन्होंने मिलकर बनाई कार

कार बनाने में मैकेनिकल इंजीनियरिंग के विभागाध्यक्ष प्रो. अनिल कुमार अग्रवाल, प्रो.रश्मि रेखा साहू, एके झा, एसके मंडल, बी रजाक, एल संकारा राव के साथ प्रतिभाशाली छात्रों में यश मित्तल, निशांत राजेश, कुणाल कुंडू, केतन सेगू श्रीवास्तव, रितेश गुप्ता, गौरव उपाध्याय, श्रीनिवास प्रकाश दिवांजी, सौरभ मिश्रा, राहुल सिंह भदौरिया, आकाश रौधिया, पारस त्रिवेदी, अपूर्व तिवारी, वेदांत कुमार, नमन राय, सत्यम श्रीवास्तव, सौरव सुबक्रांति, अयन मुत्रेजा, विजेथ उदुपा, आदित्य श्रीवास्तव आदि शामिल हैं।

Comments

Most Popular

To Top