Anya Smachar

रूस-भारत के बीच होगी ऐतिहासिक वार्ता, सेंट पीटर्सबर्ग जाएंगे नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 मई से 03 जून तक, पांच दिनों की विदेश यात्रा पर होंगे। वह जर्मनी, स्पेन, फ्रांस, रूस की यात्रा करेंगे जिसमें उनकी रूस यात्रा अहम होने की संभावना है।





विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव जीवी श्रीनिवासन ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1-2 जून को रूस की यात्रा पर होंगे। जहां वह सेंट पीटर्सबर्ग में दोनों देशों के बीच वार्षिक वार्ता में शामिल होंगे। यह दोनों देशों के बीच हर साल होने वाली उच्च स्तरीय वार्ता है, जो बिना व्यधान के लगातार हो रही है। ये 18वीं द्विपक्षीय वार्ता होगी। इससे पहले ब्रिक्स सम्मिट, गोवा में अक्टूबर 2016 में भारत-रूस के बीच 17वीं सालाना वार्ता हुई थी। जिसमें मोदी-पुतिन ने हिस्सा लिया था। ये पहली बार होगा जब ये वार्ता रूस में मास्को से बाहर किसी दूसरे शहर में हो रही है। मोदी सेंट पीटर्सबर्ग इंटरनेशनल इकॉनामिक फोरम में भी शामिल होंगे।

इस वार्ता से अलग प्रधानमंत्री मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच एक बैठक होगी, जिसमें केवल दोनों राजनेता शामिल होंगे। इसके बाद दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक होगी। इस बैठक के बाद प्रधानमंत्री मोदी रूसी कंपनियों के CEOs से मिलेंगे जहां भारत-रूस के बीच व्यापारिक संबंधों को लेकर बात होगी। साथ ही रूसी कंपनियों के उच्चाधिकारी भारत सरकार के सामने अपनी बात रखेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी मीडिया से बात करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी की रूस यात्रा तक यदि कुछ समझौतों का मसौदा तैयार होता है, तो उन पर भी इस दौरान हस्ताक्षर होंगे। भारत-रूस रक्षा, नाभिकीय ऊर्जा, अंतरिक्ष तकनीकी के क्षेत्र में आपसी सहयोग बढ़ाने पर विचार कर सकते हैं।
मोदी की रूस यात्रा के पहले भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने जनवरी, 2017 को रूस की यात्रा की थी। विदेश सचिव भी मार्च, 2017 में रूस यात्रा पर जा चुके हैं। अप्रैल, 2017 में भारत के रक्षा मंत्री रूस की यात्रा पर गए थे। इस तरह मोदी-पुतिन की बैठक के पहले भारत-रूस के बीच विभिन्न स्तर की वार्ताएं हो चुकी हैं।

Comments

Most Popular

To Top