Anya Smachar

संसद भवन में अचानक क्यों तन गईं बंदूकें

संसद परिसर

नई दिल्ली। संसद भवन में उस वक्त अचानक अफरा-तफरी मच गई जब किसी हमले के मद्देनजर बजने वाला सुरक्षा अलार्म बज गया और सुरक्षा व्यवस्था से जुड़े सभी कर्मी अपनी-अपनी जगहों पर पोजीशन में आ गए। यहां तक कि अचानक बजे अलार्म से सांसद भी घबरा गए।





बताया जा रहा है कि गुरुवार को संसद के गेट से अचानक एक अज्ञात वाहन टकरा गया। वाहन के गेट से टकराते ही पूरे संसद भवन परिसर में किसी हमले के मद्देनजर बजने वाला अलार्म बज उठा और सभी लोग सुरक्षित स्थान की ओर जाने लगे। उधर, दूसरी तरफ संसद की सुरक्षा में लगे सुरक्षा बलों के जवानों ने भी मोर्चा संभाल लिया और किसी हमले की आशंका के मद्देनजर पोजीशन ले ली।

कुछ मिनटों तक सभी सुरक्षा कर्मी अपने अपने स्थान पर खड़े रहे, किंतु जब यह पता चला कि यह एक मामूली दुर्घटना है तब जाकर सभी सुरक्षाकर्मियों ने पोजीशन बदली और हथियारों के साथ फिर मुस्तैद खड़े हो गए।

गौरतलब है कि 2001 में संसद पर आतंकी हमला हुआ था। इस समय भी आतंकी एक कार के साथ संसद परिसर में घुस गए थे और अंधाधुध फायरिंग करने लगे थे। इस हमले में पांच पुलिस वाले,  संसद का एक सुरक्षा गार्ड और एक माली की मौत हो गई थी। उस समय पांचों आतंकियों के मंसूबे पर सुरक्षा कर्मियों ने पानी फेर दिया था। इस हमले के बाद संसद की सुरक्षा व्यवस्था को पूरी तरह हाईटेक कर दिया गया।

Comments

Most Popular

To Top