Anya Smachar

पाकिस्तान में पारित हो ही गया हिंदू विवाह अधिनियम-2017

हिंदू एक्ट

नई दिल्ली। पाकिस्तान की संसद ने हिंदू अल्पसंख्यकों के विवाह के नियमन से संबंधित विधेयक को आखिरकार मंजूरी दे दी। नेशनल असेंबली ने हिंदू विवाह अधिनियम-2017 को पारित किया। इससे पाकिस्तान के हिंदुओं को विवाह से संबंधित अपना पर्सनल लॉ मिलेगा। लम्बी प्रक्रिया के बाद इस विधेयक को पारित किया गया है। यह दूसरा मौका है जब नेशनल असेंबली ने इसे पारित किया है।





इस विधेयक को पिछले साल सितंबर में पारित किया गया था, लेकिन इसे फिर से पारित करना था क्योंकि सीनेट ने बीते फरवरी महीने में इसमें कुछ संशोधन को स्वीकृति दी थी। नियमों के अनुसार, विधेयक के समान स्वरूप को दोनों सदनों से पारित किया जाना जरूरी है और फिर इसे हस्ताक्षर के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा जाता है।

बहरहाल, जिस स्वरूप को दोनों सदनों ने मंजूरी दी है उसमें शादी ‘परथ’ शामिल है जो मुसलमानों के निकाहनामे से मिलता-जुलता है। इस विधेयक के कानूनी रूप लेने के बाद हिंदू महिलाएं अपनी शादी का दस्तावेजी सबूत हासिल कर सकेंगी।

Comments

Most Popular

To Top