Anya Smachar

पाकिस्तान की अदालत में भारतीय राजनयिक का फोन जब्त

भारत -पाकिस्तान

इस्लामाबाद। भारतीय महिला उज्मा के शादी मामले की सुनवाई के दौरान अदालत में एक भारतीय राजनयिक का मोबाइल फोन जब्त किए जाने की खबर है। बाद में अदालत के कहने पर उक्त राजनयिक ने माफी मांग ली।





प्राप्त जानकारी के अनुसार, इस्लामाबाद की अदालत में शुक्रवार को उज्मा मामले की सुनवाई हो रही थी। वहां भारतीय उच्चायोग में तैनात फर्स्ट सेक्रेटरी डॉ पीयूष सिंह अपने फोन के साथ पहुंचे थे। बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी अधिकारियों ने उनका मोबाइल जब्त कर लिया। इसके पीछे दलील दी जा रही है कि सिंह कोर्ट में जज का फोटो खींचने की कोशिश कर रहे थे जिसकी अनुमति नहीं होती है।

लेकिन जब मामला जज के संज्ञान में लाया गया तो उन्होंने इसे कोर्ट के नियमों की गंभीर अवमानना बताया और उन्हें लिखित माफी देने के लिए कहा। सिंह ने पहले मौखिक तौर पर माफी मांगी और इसके बाद लिखकर क्षमा याचना की। उनका कहना था कि वह गलती से कोर्ट में मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे थे। न्यायाधीश ने उनकी माफी को स्वीकार करते हुए मोबाइल लौटा दिया।

पाकिस्तान में उज्मा नाम की एक भारतीय महिला से एक पाकिस्तानी ने जबरन शादी कर ली है। इसी मामले की सुनवाई इस्लामाबाद की अदालत में हो रही है। बता दें कि उज्मा एक भारतीय महिला है। उसने पिछले दिनों भारतीय उच्चायोग में शरण ली थी। उसने भारतीय अफसरों को बताया था कि कैसे एक पाकिस्तानी नागरिक के साथ शादी करने के लिए बंदूक तानकर मजबूर किया। उसे हिंसा एवं यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा था।

उज्मा ने इस्लामाबाद अदालत में अपने पति ताहिर अली के खिलाफ याचिका दायर की है। उसने अपने पति पर प्रताड़ना और धमकाने का आरोप लगाया है। महिला ने मजिस्ट्रेट के समक्ष अपना बयान रिकॉर्ड कराया है। अदालत के एक अधिकारी ने संवाददाताओं को बताया कि महिला ने मजिस्ट्रेट से कहा कि वह शादी के लिए नहीं, बल्कि अपने रिश्तेदारों से मिलने के लिए पाकिस्तान आई थी।

Comments

Most Popular

To Top