Anya Smachar

गुमनाम शहीदों के लिए दिल्ली सरकार की वेबसाइट

देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले ‘गुमनाम शहीदों’ के नाम शहीद कोष में दर्ज किए जाएंगे। इतना ही नहीं उनके परिजनों से दिल्ली सरकार ने संपर्क भी साधना शुरू कर दिया है। दरअसल, दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने बीते वर्ष 27 सितंबर को ‘शहीद कोष’ नामक वेबसाइट लॉच की थी।

नई दिल्ली: देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले ‘गुमनाम शहीदों’ के नाम शहीद कोष में दर्ज किए जाएंगे। इतना ही नहीं उनके परिजनों से दिल्ली सरकार ने संपर्क भी साधना शुरू कर दिया है। दरअसल, दिल्ली सरकार ने बीते वर्ष 27 सितंबर को ‘शहीद कोष’ नामक वेबसाइट लांच की थी। जिसमें अब तक सौ से अधिक ऐसे शहीदों के नाम सामने आए हैं जिनके बारे में शायद ही लोग जानते हों।





दिल्ली सरकार उच्चायोग की मदद से बांग्लादेश, म्यांमार, इंग्लैंड, कनाडा और अमेरिका में रह रहे स्वतंत्रता सेनानियों और उनके परिजनों से संपर्क साधने का भी प्रयास किया है। सरकार उनसे शहीदों के बारे में पूरी जानकारी जुटाने का काम कर रही है।

  • दिल्ली सरकार की सराहनीय पहल, अब कोई शहीद नहीं रहेगा ‘गुमनाम’, देश जान सकेगा उनकी वीरगाथा के बारे में।
  • लोगों से अपील-‘किसी के पास शहीदों की जानकारी हो तो बताएं’
  • दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय का दावा, अब तक 100 से अधिक शहीदों के बारे में जानकारी मिली है। जल्द ही वेबसाइट पर अपलोड किए जाएंगे उनके नाम।
  • कई स्वतंत्रता सेनानियों के नाम इतिहास से गायब हैं उनका भी नाम जान सकेगा देश।

Comments

Most Popular

To Top