Anya Smachar

प्लेन में अब हवाई चप्पल वाले भी उड़ सकेंगे : मोदी

नरेंद्र मोदी

शिमला। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को शिमला से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित जुब्बडहट्टी हवाई अड्डे से ‘उड़े देश का आम नागरिक’ (उड़ान) नामक क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना के तहत शिमला-दिल्ली रूट पर प्रथम उड़ान को झंडी दिखाकर रवाना किया। मोदी ने कहा कि आज हवाई जहाज में हवाई चप्पल वाले लोगों का सफर करना संभव हुआ है। नई नीति में हवाई सफर का किराया प्रति किलोमीटर, टैक्सी से भी कम छह रुपये प्रति किलोमीटर हो गया है। एक साल में 30 के अधिक एयरपोर्ट में हवाई सेवा शुरू हो जाएगी। हवाई जहाज से लगभग 500 किलोमीटर की एक घंटे की यात्रा अथवा हेलिकॉप्टर से 30 मिनट के सफर का हवाई किराया अधिकतम 2500 रुपये होगा। साथ ही, प्रधानमंत्री ने ‘उड़ान’ के तहत कडप्पा-हैदराबाद और नांदेड़-हैदराबाद क्षेत्रों पर भी प्रथम उड़ान को झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान बिलासपुर के समीप बंदला में बनने वाले पहले हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज का प्रधानमंत्री हवाई अड्डे से ऑनलाइन शिलान्यास भी किया।





प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर कहा कि मध्यम वर्ग के लिए भी अवसर खुल रहे हैं। यह वर्ग बहुत बड़ा है और अगर युवाओं को मौका मिलेगा तो वो देश की तस्वीर बदल देंगे। उन्होंने कहा कि पूरा विश्व मानता है भारत में हवाई सेवा के लिए सबसे अधिक अवसर हैं। अटल जी के समय हवाई सेवा का लोगो बदला गया। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने हवाई सेवा को लेकर लोगों की सोच बदली है। मोदी ने कहा कि देश में कोई उड्डयन नीति नहीं थी। हमारी सरकार ने देश में पहली बार उड्डयन नीति बनाई। उन्होंने कहा कि इस योजना से हिमाचल के पर्यटन को बहुत बल मिलेगा। पूर्वोत्तर भी इस योजना से जुड़ने जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘उड़े देश का आम नागरिक’ (उड़ान) नामक क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना के तहत शिमला-दिल्ली रूट पर प्रथम उड़ान को रवाना किया।

दूसरी तरफ, हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज का शिलान्यास करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हिमालय क्षेत्र में हाइड्रो की बहुत संभावना है। अगर इसकी पढ़ाई यहां होती है, तो यह बहुत बड़ी सेवा होगी। इस दौरान उनके साथ केन्द्रीय उड्डयन मंत्री अशोक गणपति राजू, केन्द्रीय राज्य उड्डयन मंत्री जंयत सिन्हा, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, हिमाचल के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, नेता विपक्ष प्रेम कुमार धूमल व परिवहन मंत्री जीएस वाली भी मौजूद रहे।

गौरतलब है शिमला हवाई अड्डे से हवाई सेवा सितम्बर 2012 से बंद पड़ी है। अब चार से अधिक सालों के बाद शिमला से यह सेवा फिर से शुरू हुई है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय उन हवाई अड्डों को हवाई कनेक्टिविटी सुलभ कराने के लिए प्रतिबद्ध है, जहां वर्तमान में या तो हवाई सेवा बिल्कुल भी उपलब्ध नहीं है या बेहद कम संख्या में उपलब्ध है। शिमला के लिए 28 अप्रैल से नियमित उड़ानें दिल्ली से प्रात: 6:10 बजे आरम्भ होगी और प्रात: 7:25 बजे शिमला पहुंचेगी और शिमला से प्रात: 7:45 बजे चलेगी और प्रात: 8:45 बजे दिल्ली पहुंचेगी। उड़ानों का संचालन बुधवार से रविवार तक सप्ताह में पांच दिन किया जाएगा।

एलायंस एयरवेज ने शिमला के अनाथालय के दो विद्यार्थियों को दिल्ली भेजा और वे अगले दिन की उड़ान में वापस आएंगे। वे एलायंस एयरवेज के विशेष अतिथि होंगे। क्षेत्रीय दृष्टि से महत्वपूर्ण शहरों में रहने वाले लोगों को हवाई यात्रा सुलभ कराने के लिए मंत्रालय ने अक्टूबर, 2016 में ‘उड़े देश का आम नागरिक’ नामक क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना शुरू की थी। उड़ान योजना राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन नीति का एक अहम हिस्सा है, जिसे नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 15 जून 2016 को जारी की थी।

Comments

Most Popular

To Top