Anya Smachar

12 जून से शुरू होगी कैलाश मानसरोवर यात्रा

कैलाश मानसरोवर

पिथौरागढ़। एक माह तक चलने वाली विश्व प्रसिद्ध कैलाश मानसरोवर यात्रा इस बार 12 जून से शुरू होगी। यात्रा से जुड़़े सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।





भारतीय क्षेत्र में पांच प्रमुख पैदल पड़ाव सिर्खा, गाला, बूंदी, गुंजी, नाभीढांग में विषम भौगोलिक स्थितियों को देखते हुए इस बार थकान भरी यात्रा में आरामदेह आवासीय सुविधा मिलेगी। इसके लिए कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) ने यात्रा के प्रमुख पड़ावों में आधुनिक हट्स की व्यवस्था की है।

  • यात्रा के प्रमुख पड़ावों में आधुनिक हट्स की व्यवस्था

कैलाश यात्रियों को नारायण आश्रम से लिपुपास तक बेहद थकानभरी करीब 80 किलोमीटर की यात्रा पैदल तय करनी पड़ती है। इसके बाद यात्री 16500 फीट ऊंचे लिपुलेख दर्रे को पार कर चीनी क्षेत्र में प्रवेश करते हैं।

  • हर पड़ाव में कुमाऊंनी भोजन भी परोसा जाएगा

विशेष कार्याधिकारी पर्यटन डॉ. डीके शर्मा ने जानकारी दी कि यात्रा पर जाने वाले यात्रियों को उच्च हिमालयी क्षेत्र के ठंड भरे मौसम में भी राहत मिलेगी। हर पड़ाव में कुमाऊंनी भोजन भी परोसा जाएगा। साथ ही अन्य व्यस्थाओं का बेहतर प्रबंध किया गया है।

कैलाश मानसरोवर यात्रा वर्ष 1981 में शुरू की गई। तब से 424 यात्री दलों में 15031 यात्री अब तक लिपूपास से कैलाश मानसरोवर की यात्रा कर चुके हैं।

Comments

Most Popular

To Top