Anya Smachar

घोटाले में CBI कोर्ट ने पूर्व कोयला सचिव समेत तीन को सुनाई सजा

एचसी गुप्ता

नई दिल्ली। कोयला ब्लाक आवंटन घोटाला मामले में पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता और दो पूर्व अधिकारियों को स्पेशल CBI कोर्ट के जज भरत पाराशर ने दो साल की सजा सुनाई है, जिसके बाद तीनों को ही कोर्ट ने जमानत भी प्रदान कर दी ताकि वे हाईकोर्ट में अपील कर सकें। अदालत ने तीनों पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। इस मामले के अभियुक्त चार्टर्ड अकाउंटेंट अमित गोयल को कोर्ट ने सभी मामलों से बरी कर दिया था।





कोयला घोटाला

प्रतीकात्मक फोटो

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 19 मई को पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को दोषी करार दिया था। कोर्ट ने इस मामले में कोयला मंत्रालय के तत्कालीन संयुक्त सचिव के. एस. क्रोफा, कोयला मंत्रालय के तत्कालीन निदेशक केसी समारिया और कमल स्पंज स्टील एंड पावर लिमिटेड (केएसएसपीएल) और उसके प्रबंध निदेशक पवन कुमार अहलूवालिया को भी दोषी करार दिया था। केएसएसपीएल पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है जबकि पवन कुमार अहलूवालिया को तीन साल जेल की सजा सुनाई है। अहलूवालिया को 30 लाख रुपये जुर्माना भी देना होगा।

इस मामले में सीबीआई ने आरोप लगाया था कि इन आरोपियों ने मध्यप्रदेश में थेसगोरा-बी रुद्रपुरी में कोल ब्लॉक आवंटन देने में गड़बड़ी की। सीबीआई के मुताबिक जब केएसएसपीएल ने कोल ब्लॉक के आवंटन के लिए आवेदन दिया था तो वह पूर्ण नहीं था और वो मंत्रालय से अस्वीकृत होने की स्थिति में था। सीबीआई के मुताबिक जमीन और कंपनी के नेटवर्थ के संबंध में जांच समिति के सामने तथ्यों को गलत तरीके से पेश किया गया और राज्य सरकार ने भी उसकी अनुशंसा नहीं की थी।

Comments

Most Popular

To Top