Anya Smachar

इन श्रेणी के रेलवे स्टेशनों पर ई-कैटरिंग सुविधाएं लागू

इलाहाबाद: देशभर में अब 357ए-1 और ए श्रेणी के रेलवे स्टेशनों पर ई-कैटरिंग की सुविधाएं लागू कर दी गई हैं। रेल गाड़ियों में अब ई-कैटरिंग के माध्यम से खाना उपलब्ध कराया जा रहा है। भारतीय रेल खानपान की गुणवत्ता व उपलब्धता सुधारने के लिये बड़े स्टेशनों पर आधुनिक बेस किचेन बनाये गये हैं, जिनमें गुणवत्ता युक्त भोजन तैयार कर गाड़ियों में उपलब्ध कराये जा रहे हैं। बड़े स्टेशनों पर फूड प्लाजा-फास्ट फूड यूनिट खोले गये हैं।





भारतीय रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी के अनुसार ई-कैटरिंग द्वारा स्थानीय रुचि का भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। उक्त व्यवस्था को भारतीय रेल के 357 ए-1 एवं ए श्रेणी के स्टेशनों पर लागू कर दिया गया है। भोजन में स्थानीय स्वाद शामिल करने के उद्देश्य से भारतीय रेल के 10 स्टेशनों पर नौ स्वयं सहायता समूह को आईआरसीटीसी द्वारा इम्पैनल किया गया है।

ई-कैटरिंग सुविधा से विजयवाड़ा, मैसूर, अर्नाकुलम, सागर, सावंतवाणी, विशाखापट्टनम, टूनी, आद्रा, अंकापल्ली आदि स्टेशनों पर ठहराव वाली गाड़ियों के यात्री इन स्वयं सहायता समूह से भोजन ई-कैटरिंग के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

जनसम्पर्क अधिकारी ने यह भी बताया कि भारतीय रेल के केन्द्रीयकृत कैटरिंग सेवा मॉनिटरिंग प्रकोष्ठ के टोल फ्री नंबर पर 1800-111-321 पर शिकायत आती है जिसका त्वरित समाधान किया जाता है। साथ ही पिछले एक वर्ष में लगभग 1.8 करोड़ रूपये का जुर्माना भी 2108 केसों से वसूला गया है। इसके अतिरिक्त ट्वीटर एवं 138 के माध्यम से भी प्राप्त होने वाली शिकायतों को तत्काल अटेंड किया जाता है।

नई कैटरिंग पॉलिसी के तहत सभी कैटरिंग स्टालों को पीओएस मशीनें रखने के लिए निर्देशित किया गया ताकि भुगतानों को कैशलेस करने में सहायता मिल सके और यात्रियों को सुविधा मिले।

Comments

Most Popular

To Top