Anya Smachar

गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाए : राजस्थान हाईकोर्ट

राजस्थान हाईकोर्ट

जयपुर। राजस्थान हाईकोर्ट ने बहुचर्चित हिंगोनिया गौशाला मामले में बुधवार को अपने फैसले में कहा है कि गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करवाने के लिए राज्य सरकार केंद्र सरकार के साथ प्रयास करे। साथ ही गोकशी करने वालों को आजीवन कारावास का प्रावधान कानून में शामिल करवाए। मवेशियों की खरीद-फरोख्त के संबंध में केंद्र सरकार के नए नोटिफिकेशन पर मद्रास हाईकोर्ट द्वारा चार हफ्ते की रोक के आदेश के ठीक एक दिन बाद आया राजस्थान हाईकोर्ट का यह फैसला अहम माना जा रहा है।





राजस्थान हाईकोर्ट ने बहुचर्चित हिंगोनिया गौशाला मामले में सात साल बाद अपना फैसला सुनाया है। फैसले में कहा गया है कि गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करवाने के लिए मुख्य सचिव और महाधिवक्ता केंद्र सरकार के सामने अपना पक्ष रखें। हाईकोर्ट ने इस मामले को लेकर कमेटी भी बनाने के निर्देश दिए हैं।

राजस्थान हाईकोर्ट ने फैसले में कहा है कि हिंगोनिया गौशाला में भ्रष्टाचार की जांच एसीबी करे। कोर्ट ने एडीजे को हर तीन महीने में गोशाला को लेकर रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने यूडीएच सचिव और निगम आयुक्त सहित सम्बंधित अफसरों को महीने में एक बार गौशाला का दौरा करने के निर्देश दिए।

कोर्ट ने इस मामले में वन विभाग को गौशाला में हर साल 5 हजार पौधे लगाने को कहा है। साथ ही, अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि पूर्व में दिए गए आदेशों का अनुपालन यथावत ही किया जाए। वर्तमान में राजस्थान में राजस्थान गौवंशीय पशु (वध का प्रतिषेध एवं निर्यात का विनियमन) अधिनियम के तहत गौहत्या पर तीन वर्ष के कारावास की सजा का प्रावधान है।

Comments

Most Popular

To Top