Anya Smachar

CBI को राजेंद्र के खिलाफ केस चलाने की इजाजत

आईएएस-अधिकारी-राजेंद्र-कुमार

नई दिल्ली: गृह मंत्रालय ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव और निलंबित आईएएस अधिकारी राजेंद्र कुमार के खिलाफ मामला चलाने की इजाजत दे दी है। राजेंद्र कुमार पर एक निजी कंपनी को दिल्ली सरकार का ठेका देने में अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप है। राजेंद्र कुमार का स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का आवेदन नामंजूर कर दिया गया है।





1989 बैच के आईएएस अधिकारी राजेंद्र कुमार पर निजी कंपनी एंडेवर सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड को दिल्ली सरकार का कुल 9.5 करोड़ रुपये का ठेका देने में अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप है। इस मामले में उन्हें पिछले साल 4 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें 26 जुलाई को जमानत भी मिल गई थी।

गृह मंत्रालय से जुड़े एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि “राजेंद्र कुमार के खिलाफ जांच करने के लिए सीबीआई ने इजाजत मांगी थी उसे गृह मंत्रालय ने दे दिया है। साथ ही उनकी वीआरएस की दरख्वास्त भी नामंजूर कर दी गई है।” अधिकारी के अनुसार, वीआरएस इसलिए नामंजूर कर दिया गया क्योंकि उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला चल रहा है।

आपको बता दें कि राजेंद्र कुमार ने केंद्र सरकार से वीआरएस की मांग की थी। उन्होंने एक पत्र लिखकर सीबीआई पर यह भी आरोप लगाया था कि सीबीआई ने उन पर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बयान देने के लिए दबाव डाला था। ऐसा करने पर उन्हें छोड़ने की बात भी सीबीआई ने उनसे कही थी। राजेंद्र कुमार शुरू से ही आरोप लगाते रहे हैं कि सीबीआई के जरिए उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है और झूठे केसों में फंसाया जा रहा है।

Comments

Most Popular

To Top