Anya Smachar

उत्तर कोरिया संकट से चिंतित पोप फ्रांसिस की अपील

पोप-फ्रांसिस

कैरो। अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच बढ़ते तनाव से चिंतित ईसाई धर्म गुरु पोप फ्रांसिस ने इस संकट से निपटने के लिए अंतर्राष्ट्रीय मध्यस्थता की अपील की है। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली।





बीबीसी के अनुसार, पोप ने सुझाव देते हुए नॉर्वे का नाम लिया जो हमेशा से मदद के लिए तैयार है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि इस संकट की वजह से विनाशकारी युद्ध का ख़तरा मंडरा रहा है जिसमें ‘मानवता की अच्छाई वाला हिस्सा’ नष्ट हो जाएगा।

पोप का यह बयान उत्तर कोरिया के एक और परमाणु परीक्षण के बाद आया है। हालांकि अमेरिका और दक्षिण कोरिया का कहना है कि यह परीक्षण असफल रहा।

मिस्र की यात्रा के बाद अपने विमान में पोप ने पत्रकारों से कहा, ‘दुनिया में कई देश हैं जो मदद करते हैं, कई हैं जिन्होंने मध्यस्थता की पेशकश की है, उदाहरण के लिए जैसे नॉर्वे है।’ उन्होंने कहा कि हालात काफी तनावपूर्ण हो गए हैं और बातचीत के जरिए ही इस संकट का कूटनीतिक हल ढ़ूढ़ा जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को लेकर अमेरिका का कड़ा रुख रहा है और कुछ दिन पहले ट्रम्प ने इस समस्या से अकेले निपटने की बात कही थी। लेकिन बाद के घटनाक्रमों के बाद दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया है।

Comments

Most Popular

To Top