Anya Smachar

किसने सुनाया जज को मौत के घाट उतारने का फरमान?

माओवादी-जन-अदालत

भागलपुर। प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (एम) ने बिहार में पांच माओवादियों को फांसी की सजा सुनाने वाले जज को मौत के घाट उतारने की घोषणा करते हुए दो दिवसीय बंद का ऐलान किया है। संगठन ने मुंगेर, लखीसराय, जमुई, बांका और भागलपुर बंद रखने का आह्वान किया है।





CPI (M) के बिहार झारखंड जोनल कमेटी के प्रवक्ता लालजीत कोड़ा ने एक पत्र जारी कर में फांसी की सजा के खिलाफ 28 और 29 को मुंगेर, लखीसराय, जमुई, बांका और भागलपुर बंद रखने की घोषणा की। माओवादियों ने जन अदालत लगाकर उनके पांच साथियों को फांसी की सजा सुनाने के लिए एडीजे प्रथम ज्योति स्वरूप श्रीवास्तव को मौत के घाट उतारने का अपने कैडर के लोगों को फरमान जारी किया।

गौरतलब है कि एडीजे प्रथम ज्योति स्वरूप श्रीवास्तव ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान CRPF जवानों की टुकड़ी पर हमला करने के आरोप में पांच नक्सलियों विपिन मंडल, रतु कोड़ा, मन्नू कोड़ा, वानो कोड़ा और अधिक लाल पंडित को फांसी की सजा सुनाई थी। इस बीच पुलिस अधीक्षक आशीष भारती ने ऐसी किसी भी सूचना से इनकार किया हालांकि सम्बन्धित जज की सुरक्षा इस बीच बढ़ा दी गई है।

Comments

Most Popular

To Top