Anya Smachar

अमरनाथ यात्रा के लिए 37 हजार सैनिक तैनात होंगे

श्री अमरनाथ यात्रा

नई दिल्ली। अमरनाथ यात्रा 29 जून को प्रारम्भ होगी और इसका समापन सात अगस्त को रक्षाबंधन के मौके पर होगा। इस धार्मिक यात्रा के लिए इस बार एहतियातन करीब 37 हजार सैनिक तैनात होंगे।





  • गृह मंत्रालय के अनुसार इस बार 13 साल से कम और 75 साल से अधिक उम्र के श्रद्धालु यात्रा नहीं कर सकते हैं। इसके अलावा छह महीने से अधिक की गर्भवती महिला भी यात्रा नहीं कर सकती है।

इस वर्ष अमरनाथ यात्रा यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों के पंजीकरण की प्रक्रिया 1 मार्च से सभी बैंक शाखाओं में प्रारम्भ कर दी गयी थी। इस बार बोर्ड की तरफ से पहले आओ पहले पाओ की प्रक्रिया रजिस्ट्रेशन में अपनाई गयी है। एक यात्रा परमिट केवल एक यात्री के लिए ही वैध होगा। प्रत्येक शाखा को यात्रियों के पंजीकरण के लिए एक निश्चित दिन/मार्ग के अनुसार कोटा आवंटित किया गया है। इसमें पंजीकृत करने वाली शाखा यह तय करेगी कि यात्रियों की संख्या एक ग्रुप से अधिक न हो। यात्रा के लिए दो रूट बालटाल और पहलगाम तय किये गए हैं।

  • श्रद्धालु अमरनाथ श्राइन बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट www.shriamarnathjishrine.com पर यात्रा से संबंधित अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं।

इस धार्मिक यात्रा के लिए अमरनाथ श्राइन बोर्ड की ओर से स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों की टीम ही प्रमाणपत्र जारी करती है। ध्यान रहे कि बिना मेडिकल सर्टिफिकेट के किसी भी श्रद्धालु का रजिस्ट्रेशन नहीं किया जाएगा। रजिस्ट्रेशन फीस 50 रुपए तय की गई है।

इस धार्मिक यात्रा के लिए इस बार एहतियातन करीब 37 हजार सैनिक तैनात होंगे। गृह मंत्रालय का कहना है कि श्रद्धालुओं को पिछली बार जिन परेशानियों और हालातों का सामना करना पड़ा था उससे सबक लेते हुए उन्हें दूर करने की पूरी कोशिश की जाएगी। बिना रजिस्ट्रेशन और तारीख से पहले यात्रा पर पूर्णतः रोक है।

Comments

Most Popular

To Top