Others

इराक में लापता 39 भारतीय मारे गये, ISIS ने की थी हत्या

लोकसभा में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

नई दिल्ली। केन्द्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को संसद में बताया कि इराक के मोसुल से लापता सभी 39 भारतीय मारे गए हैं। कुख्यात आतंकी संगठन ISIS ने भारतीयों की हत्या की। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि बहुत भरे मन के साथ ही सही, लेकिन 3 वर्ष बाद 39 अगवा भारतीयों के इराक में मारे जाने की खबर की मैं पुष्टि करती हूं। उन्होंने कहा कि सभी मृत लोगों के DNA मिल गए हैं। मृतकों के शरीर को उनके परिवार को सौंपा जाएगा। सदन ने दो मिनट का मौन रख मृतकों को श्रद्धांजलि दी और उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की।





विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बताया कि सभी लापता भारतीयों के शवों को पहाड़ी खोदकर निकाला गया और उनके DNA सैंपल से शवों की जांच कराई गई। उन्होंने बताया कि ISIS ने 39 भारतीयों को अपने कब्जे में ले रखा था। उन्हें मोसुल से बलूच ले जाया गया। जनरल वीके सिंह, भारतीय राजदूत और इराक के एक अधिकारी ने बलूच में लापता भारतीय की तलाश की। बलूच नें पता चला कि एक पहाड़ के नीचे कई लोगों को एक साथ दफनाया गया है। डीप पेनिट्रेशन रडार के जरिए पहाड़ में दफनाए गए लोगों का पता लगाने के बाद खोदकर सभी शव निकाले गए। शवों के साथ कुछ पहचान पत्र (आईकार्ड) और कुछ जूते मिले।

विदेश मंत्री ने बताया कि उन्हें कल सूचना मिली कि 38 लोगों के DNA सैंपल मैच हो गए हैं जबिक 39वें का DNA सैंपल 70 प्रतिशत तक मैच हो गया है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि जनरल वीके सिंह मार्टियस फाउंडेशन के सर्टिफिकेट के साथ उनके पार्थिव शरीर लेकर आएंगे। मारे गये लोगों में 31 लोग पंजाब और हिमाचल प्रदेश के है जबकि शेष बिहार और बंगाल के हैं।

विदेश मंत्री ने कहा कि मेरे सहयोगी जनरल वीके सिंह ने लापता भारतीयों को खोजने के लिए मोसूल और बगदाद की कई यात्राएं की। इराक के गांवों तक गए। एक छोटे कमरे में जमीन पर सोए लेकिन लापता लोगों के मृत होने का पुख्ता प्रमाण लेकर ही लौटे।

विदेश मंत्री ने सहयोग के लिए इराक सरकार का धन्यवाद भी दिया।

Comments

Most Popular

To Top