Listicles

मुश्किलों को मात देकर बनीं सिक्किम की पहली महिला IPS, जानें 7 खास बातें

कहते हैं हौसलें बुलंद हों तो कामयाबी हासिल करने से आपको कोई नहीं रोक सकता। यही नहीं कहा तो यह भी जाता है कि जितना कड़ा संघर्ष होता है कामयाबी उतनी ही शानदार होती है। ऐसी ही एक कामयाबी की बानगी हैं अपराजिता। जिन्हें सिक्किम की पहली महिला आईपीएस बनने का गौरव प्राप्त हुआ है। उनकी यह कामयाबी सैंकड़ों महिलाओं के लिए प्रेरणादायक है। आइये जानते हैं उनके सफर और संघर्ष से जुड़ी कुछ खास बातें :





आठ वर्ष की उम्र में छूटा पिता का साथ

आठ वर्ष की उम्र में छूटा पिता का साथ

अपराजिता महज 8 वर्ष की थीं कि उनके पिता का देहांत हो गया अपराजिता के दिवंगत पिता सिक्किम में विभागीय वन अधिकारी थे। पेशे से शिक्षिका मां रोमा राय पर घर की सारी जिम्मेदारी आ गई।  पिता के गुजर जाने के बाद उनके परिवार को आर्थिक तंगी से जूझना पड़ा उनकी मां ने अकेले ही  बच्चों की परवरिश की।

Comments

Most Popular

To Top