Jails

कैदी इस्तेमाल कर रहे फेसबुक और मोबाइल फोन !

शिमला का आदर्श कण्डा जेल

शिमला। शिमला के आदर्श कण्डा जेल में कैदियों द्वारा फेसबुक और मोबाइल फोन इस्तेमाल करने का आरोप लगाने वाले पुलिस कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया है। कांस्टेबल के आरोपों की जांच के आदेश दिए गए हैं। इस बीच निलंबित कांस्टेबल ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। गौरतलब है कि इसी जेल में आईएसआई के एक संदिग्ध एजेंट अबीब खान को गिरफ्तार करके कुल्लू से लाया गया था।





कांस्टेबल भानू

जेल में अनियमितता के आरोप लगाने वाला कांस्टेबल भानू भूख हड़ताल पर

उधर, जेल के अधिकारियों ने कांस्टेबल के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि जेल विभाग की कई परियोजनाओं की वेबसाइट पर कैदी काम करते हैं। जेल अधिकारियों ने कांस्टेबल पर अनुशासनहीनता का आरोप लगाया और कहा कि पहले भी उसे इसी तरह के व्यवहार का दोषी माना गया था।

अधिकारियों के अनुसार निलंबित कांस्टेबल झूठे बयान दे रहा है, क्योंकि पूर्व में डयूटी में अनुपस्थित रहने पर उसका वेतन रोक दिया गया था। महानिदेशक जेल विभाग सुमेश गोयल ने कहा कि सारे मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं और रिपोर्ट आने पर ही वह इस मामले पर कुछ कह सकेंगे। हालांकि उन्होंने स्पष्ट किया कि कैदियों को जेल में काम करने की इजाजत दी जाती है। कई बार तो हम उनके अच्छे व्यवहार को देखते हुए उन्हें जेल की कई परियोजनाओं में काम करने की अनुमति देते हैं।

जेल के डाक्यूमेंट की सीबीआई से जांच होनी चाहिए : भानू 

निलंबित कांस्टेबल भानू का कहना है कि मैंने सच के लिए आवाज उठाई है। उसने मांग की है कि, “जेल के डाक्यूमेंट आदि की सीबीआई से जांच होनी चाहिए।” एक वीडियो में भानू का कहना है कि “मेरी तबियत खराब हो गई है। पता नहीं मेरे जीते जी मेरी आवाज सुनी जाएगी या नहीं लेकिन जांच की रिपोर्ट अगर मेरी मौत के बाद आती है और मैं गलत पाया जाता हूँ तो मुझे दोषी करार दिया जाए।”

Comments

Most Popular

To Top