Jails

जेल में ‘कबूतर’ के जरिए बाहरी दुनिया से संपर्क साध रहे हैं कुख्यात कैदी

नई दिल्ली। दिल्ली के मंडोली और रोहिणी जेल में कैदी कबूतर के जरिये बाहरी दुनिया से संपर्क साध रहे हैं और यह कबूतर है ‘मोबाइल फोन’। जी हां कैदियों द्वारा जेल के भीतर मोबाइल फोन का इस्तेमाल किए जाने के मामले सामने आए हैं। बताया जा रहा है कि हाई सिक्यॉरिटी सेल में भी कुछ कैदियों द्वारा मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया जा रहा है।





एक अखबार में प्रकाशित खबर के मुताबिक इस साल मंडोली और रोहिणी जेलों में अलग-अलग दिन हुई छापेमारी में कैदियों के पास से 30 से अधिक मोबाइल फोन जब्त किये गए हैं। जेल के अंदर मोबाइल फोन को कैदी कोड-वर्ड के रूप में ‘कबूतर’ कहते हैं।

तिहाड़ जेल के एडिशनल आईजी राजकुमार का कहना है कि इन जेलों में बड़ी संख्या में कैदियों से इस प्रकार मोबाइल फोन जब्त किये जाने का मतलब है कि जेल प्रशासन सख्ती बरत रहा है। आदेश दिए गए हैं कि किसी भी कैदी के पास कोई मोबाइल फोन नहीं होना चाहिए।

एक ही मोबाइल फोन में कैदी इस्तेमाल करते हैं कई सिमकार्ड 

खबर के मुताबिक जेल सूत्रों का कहना है कि यमुनापार के मंडोली की हाई सिक्यॉरिटी जेल नंबर-15 में भी कुछ कैदियों से मोबाइल फोन जब्त किए गए, जबकि इस जेल में कुख्यात कैदियों को बंद किया गया है। जेल नंबर-12 में भी कुछ कैदियों से फोन मिले हैं। रोहिणी जेल में भी कैदियों से फोन मिले हैं। यही नहीं मोबाइल फोन के साथ-साथ कैदियों से बड़ी संख्या में सिम कार्ड भी बरामद किए गए हैं। बताया जा रहा है कि कैदी एक अलग अलग सिमकार्ड डालकर एक ही मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे हैं कुछ कैदियों ने बाकायदा डायरी में अपने परिचितों के नंबर लिखे हुए थे जिससे यह मालूम चला कि वे किन लोगों से बात कर रहे थे।

Comments

Most Popular

To Top