Army

कई क्रांतिकारियों को इस जेल में अंग्रेजों ने किया था कैद, ‘लाहौर सेन्ट्रल जेल’ की 5 रोचक बातें

ब्रिटिशकालीन भारत की वह जेल जहां कई क्रांतिकारी रहे यहां शहीद भगत सिंह, लाला लाजपत राय जैसे क्रांतिकारियों अपनी जिंदगी की कई रातें गुजारीं । ‘इंकलाब जिंदाबाद…, आज़ादी का वह नारा जिसने युवाओं के मन में क्रांति की मशाल जलाई वह लाहौर जेल में ही आखिरी बार बोला गया था। विश्व इतिहास की सबसे लम्बी भूख हड़ताल भी इसी जेल में हुई थी आइये जानते हैं इस जेल से जुड़ी खास बातें :-





यहां कैद रहे थे भगतसिंह, सुखदेव और राजगुरु

ब्रिटिश काल के समय बनी यह जेल पाकिस्तान के कोट लखपत में स्थित है। इस जेल में 4000 कैदियों की क्षमता है । इसके अंदर एक बच्चों की जेल, एक खुली जेल हैं । इसमें खुंखार कैदियों को रखा जाता हैं। इस समय इसमें क्षमता से 4 गुना अधिक कैदी बंद है ।

Comments

Most Popular

To Top