International

Special Report: बाजवा ने इमरान खान को सलामी क्यों नहीं दी ?

जनरल बाजवा और इमरान खान

नई  दिल्ली। क्या पाकिस्तान में अब से प्रधानमंत्री और सेना प्रमुख का दर्जा समान माना जाएगा ? पाकिस्तानी सेना के  समर्थन से पाकिस्तानी एसेम्बली का चुनाव जीतने वाले इमरान खान ने प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठने के बाद पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद  बाजवा से सोमवार को हुई मुलाकात में इसका आभास दे दिया है और आगे की जनतांत्रिक सरकारों के लिये परम्परा भी बना दी है।





इस मुलाकात में पाकिस्तान में आधिकारिक तौर पर जारी वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि सेना प्रमुख जनरल बाजवा के बैठने की कुर्सी प्रधानमंत्री की कुर्सी के बगल में लगी  हुई है। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के शासन काल में सेना प्रमुख जब भी प्रधानमंत्री से मिलते थे उन्हें सलामी देनी पड़ती थी और वे प्रधानमंत्री से बातें करने के दौरान टेबल पर सामने वाली कुर्सी पर बैठते थे।  इमरान खान के सत्ता सम्भालने के बाद जनरल बाजवा तीन बार उनसे मिले हैं। रिपोर्ट है कि पहली दो मुलाकातों में जनरल बाजवा ने प्रधानमंत्री इमरान को सलामी दी और वे टेबल पर इमरान खान की कुर्सी के सामने वाली कुर्सी पर बैठे। लेकिन जब वह तीसरी बार प्रधानमंत्री इमरान खान से मिलने गए तो इमरान खान  को सलामी देने के बदले बगल में केन दबाए हुए हाथ मिलाते देखे गए और फिर  इमरान खान की कुर्सी के बगल में लगी कुर्सी पर बैठे हुए दिखाई दे रहे हैं। इसका एक छोटा वीडियो भी जारी किया गया है।

माना जा रहा है कि पाकिस्तानी सेना के एक प्रभावशाली गुट ने जनरल बाजवा को प्रधानमंत्री खान को सलामी देने पर एतराज किया था। इसके बाद ही जनरल बाजवा प्रधानमंत्री खान से तीसरी मुलाकात के दौरान बगल में लगी कुर्सी पर वैसे ही बैठे दिखे जैसे कोई दूसरे देश का राष्ट्रपति  पाकिस्तान के राष्ट्रपति से मिल रहा हो।

उल्लेखनीय है कि  1999 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने जब लाहौर का दौरा किया था तब वहां तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल परवेज मुशर्रफ ने अगवानी के दौरान प्रधानमंत्री वाजपेयी को सलामी नहीं दी थी। यह मसला काफी विवाद का विषय बना था।

किसी भी जनतांत्रिक देश में सेना प्रमुख का दर्जा प्रधानमंत्री के दर्जा से काफी नीचे होता है। भारत में सेना प्रमुखों का दर्जा कैबिनेट सचिव के बराबर ही होता है लेकिन वह भी रक्षा सचिव के अधीन माने जाते हैं।

Comments

Most Popular

To Top