International

अमेरिकी मिसाइल रक्षा प्रणाली ‘थाड’ से चीन क्यों हुआ परेशान

THAAD

बीजिंग। दक्षिण कोरिया में अमेरिकी मिसाइल रक्षा प्रणाली की तैनाती से चीन विचलित है, क्योंकि वह उसकी मारक क्षमता से अनभिज्ञ है और बीजिंग को यह डर सता रहा है कि कहीं उसके परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम भी इसकी जद में न आ जाएं। यही वजह है कि वह इसका कड़ा विरोध कर रहा है।





समाचार एजेंसी रॉयटर के अनुसार, दक्षिणी सोल में मिसाइल रक्षा प्रणाली थाड (टर्मिनल हाई अल्टीट्यूड एरिया डिफेंस) चीन और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय संबंधों के मार्ग में एक बड़ी बाधा बन गया है। माना जा रहा है कि अपने आगामी अमेरिकी दौरे के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग डोनाल्ड ट्रम्प के साथ बैठक में इस मुद्दे को जरूर उठाएंगे।

हालांकि अमेरिका कहता है कि उत्तर कोरिया की लगातार विकसित हो रही परमाणु और मिसाइल क्षमता से दक्षिण कोरिया की रक्षा के लिए वह मिसाइल रक्षा प्रणाली तैनात कर रहा है, लेकिन चीनी विशेषज्ञों का मानना है कि इसकी जद में उनके देश के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम भी आ जाएंगे।

आधिकारिक रूप से चीन का कहना है कि वह थाड पर आपत्ति जताता है, क्योंकि यह क्षेत्रीय शक्ति और सुरक्षा संतुलन को अस्थिर कर देगा। चीन ने थाड के शक्तिशाली एक्स बैंड रडार को लेकर भी अपनी चिंता जताई है, क्योंकि यह 2000 किलोमीटर की दूरी तक मिसाइलों का पता लगा सकता है। इसलिए चीन को लगता है कि थाड की तैनाती केवल उत्तर कोरिया को ध्यान में रखकर नहीं की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि थाड की तैनाती के कारण न केवल अमेरिका और चीन के बीच खटास उत्पन्न हो गई है, बल्कि चीन और दक्षिण कोरिया के बीच रिश्तों में भी दरार पड़ गई है।

Comments

Most Popular

To Top